सिंगरौली, ब्यूरो। रिश्वत लेने की आदत ने सिंगरौली में एक पटवारी को कहीं का नहीं छोड़ा। जब पीएम ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में पांच सौ और हजार के नोट बंद करने का एलान किया तब सामान्य लोग जरूर चिंतित हो गए, पर पटवारी की लालच तो देखिए नए नोटों का इंतजार नहीं कर पाया और पुराने 500 के चार नोट ही रिश्वत में लेना स्वीकार कर लिया, उसे शायद तब तक ये पता नहीं था कि लोकायुक्त टीम रुपए में कलर लगाकर उसका आसपास ही इंतजार कर रही है।

यह वाक्या है सिंगरौली तहसील के खुटार गांव का, जहां हल्का पटवारी को शुक्रवार की सुबह लोकायुक्त पुलिस टीम रीवा ने दो हजार की रिश्वत लेते रंगे उसके आवास पर ही पकड़ा। पटवारी खसरे में सुधार के लिए यह राशि ले रहा था।

पहले ले चुका था तीन हजार

बैढन थाना के पीछे खुटार हल्का पटवारी भुनेश्वर जायसवाल ने किसान आत्माराम निवासी खुटार से खसरे को सुधार करने के पिछले 6 माह से परेशान किया था। अंत में पटवारी ने कास्तकार से पांच हजार की मांग किया था लेकिन फरियादी आत्मा राम एक मुश्त रकम की व्यवस्था नही कर सका जैसे तैसे 3000 की व्यवस्था कर हल्का पटवारी को पहले दे चुका था बाकि के दो हजार देना था पटवारी के इस हरकत से परेशान काश्तकार ने लोकायुक्त पुलिस से शिकायत किया फरियादी की शिकायत पर पटवारी के विरुद्ध लोकायुक्त पुलिस टीम रीवा ने रिश्वत लेते पटवारी को टीम ने गिरिफ्तार कर भ्रष्टाचार निवारण के अंतर्गत मामला दर्ज लिया है।

- See more at: http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/rewa-patwari-taking-old-500-rupee-note-in-bribes-849087#sthash.bUUMWS2D.dpuf