रीवा। ब्यूरो

विश्वविद्यालय थाना के खुटेही में संचालित पेट्रोल पंप के पास से 16 वर्षीय अजय तिवारी उर्फ गोलू पिता विजय तिवारी का बाइक सवार 5 लोगों ने अपहरण कर सनसनी फैला दी थी। सूचना मिलने पर पुलिस जांच में लगी हुई थी इसी बीच पुलिस को सूचना प्राप्त हुई कि सौरभ नगर स्थित घर में कुछ संदिग्ध लोग मौजूद हैं। जिस पर पुलिस रात में दबिश दी और पुलिस की भनक लगते ही आरोपी उसे बाइक में बैठाकर मझियार गांव की ओर लेकर भाग रहे थे। बाइक सवार आरोपी छोटी गलियों से पुलिस को चकमा देने में लगातार सफल हो रहे थे। लगभग 10 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद मझियार गांव के पास जैसे ही पुलिस ने घेराबंदी की आरोपीगण उसे रास्ते में छोड़कर गांव के पगडंडी रास्तों से अंधेरेपन का लाभ उठाकर भाग गए हैं। पुलिस अपहृत छात्र को घर वापस लेकर आई है। वहीं आरोपियों के खिलाफ अपहरण, मारपीट, बाइक छीनने का मामला दर्ज करके उनकी तलाश कर रही है।

10वीं कक्षा का है छात्र

अपहृत व छात्र अजय तिवारी मूलतः पटेहरा गांव का रहने वाला है और वह खुटेही स्थित अपनी बुआ के घर में रहकर केवीएन कान्वेंट स्कूल निराला नगर में 10वीं का छात्र है। घटना के समय वह अपने एक अन्य साथी के साथ बाजार के लिए बाइक लेकर निकला था। बाइक सवार आरोपी उसके साथी को जहां डरा-धमकाकर भगा दिए थे वहीं विनोद उर्फ गोलू को न सिर्फ अपने कब्जे में ले लिया बल्कि उसकी बाइक भी लेकर गए हुए थे। सौरभ नगर घर में उसे रखकर आरोपीगण योजना बना ही रहे थे कि इसी बीच पुलिस को भनक लग गई और संदेह के आधार पर पुलिस ने उक्त घर में दबिश दी। आरोपीगण घटना को लेकर एलर्ट थे और पुलिस के आने के पहले ही पतली गलियों से भाग खड़े हुए थे।