रीवा। जनघटना प्रतिनिधि

सिटी कोतवाली थाना के निपनिया मोहल्ले में कारोबारी के घर से मिले 23 गैलन तेजाब मामले में प्रकरण तैयार करके उसे कलेक्टर के पास भेजा गया है जहां उक्त मामले की पूरी कार्रवाई तय की जाएगी। एसडीओपी कोतवाली और नायब तहसीलदार की संयुक्त टीम ने सोमवार रात निपनिया निवासी प्रकाश पाटिल के यहां छापामार कार्रवाई करके उसके घर से 23 गैलन तेजाब जब्त किया था। कारोबारी के पास तेजाब बिक्री का लाइसेंस नहीं होने के कारण अमले ने कार्रवाई की थी।

बताया जा रहा है कि स्थानीय पुलिस को इस संबंध में कोई भनक नहीं लगी थी। तहसीलदार को सूचना प्राप्त हुई थी कि निपनिया में एसिड का कारोबार संचालित हो रहा है। जिस पर तहसीलदार विवेक गुप्ता, नायब तहसीलदार संतोष द्विवेदी और कोतवाली एसडीओपी अभिजीत रंजन ने पुलिस बल के साथ घर में दबिश देकर कार्रवाई को पूरा किया था।

बताया जा रहा है कि मप्र सरकार ने तेजाब की बिक्री के लिए लाईसेंस अनिवार्य किया है। तेजाब की अवैध बिक्री करने वाले को तीन माह की कैद और जुर्माने के साथ ही तेजाब की खुली बिक्री पर पाबंदी लगाते हुए विक्रेताओं को लाईसेंस की अनिवार्यता की गई है। बिना लाईसेंस बिक्री पर उसे सजा के साथ 50 हजार रुपए का जुर्माना भी देना पड़ेगा। तेजाब खरीदने वालों को भी फोटो परिचय विक्रेता को उपलब्ध कराना होगा। बिना फोटो परिचय पत्र के तेजाब की बिक्री करना नियमन गलत है और इसके लिए सब डिविजनल मजिस्ट्रेट अपने संबंधित क्षेत्र में तेजाब की बिक्री पर निगरानी रखने के साथ ही उसकी बिक्री आदि का रिकार्ड भी रखते हैं।

कारोबारी के घर से मिले तेजाब मामले में प्रकरण राजस्व विभाग के अधिकारियों ने तैयार किया है और उसे कलेक्टर के पास प्रस्तुत किया जा रहा है।

-अभिषेक रंजन, एसडीओपी, कोतवाली।

कारोबारी से जब्त किया गया था 23 गैलन तेजाब

Source ¦¦ janghatna.com