मुरैना | कैलारस के ग्राम आंतरी निवासी कल्याणी श्रीमती मुन्नी शाक्य पत्नी मंगलिया की प्रतिमाह राशन खरीदने की चिंता अब दूर हो गई है क्योंकि शासन से अब राशन की पात्रता पर्ची मिल चुकी है।
    कल्याणी श्रीमती मुन्नी शाक्य ने बताया कि पति के गुजर जाने के बाद मुझ पर मुश्वितों का पहाड़ टूट पड़ा था। परिवार में गृहस्थी का खर्च चलाने के लिये कोई जरिया नहीं था। मुझे पूरे माह में राशन खरीदने की चिंता दिनो दिन सता रही थी। कभी परिवार के लोग राशन देते थे तो कभी भाई भतीजे सहयोग करते थे। मैं कल्याणी होने के बावजूद भी एक पैर से दिव्यांग भी हूं। मेरे परिवार में एक बेटा एक बेटी नाबालिग हैं जिनका खर्च मुझे ही उठाना पड़ रहा है। मैं क्या करूं एक पैर से दिव्यांग होने से मैं मेहनत मजदूरी भी नहीं कर सकती थी। मुझे पड़ौसी ने बताया कि दिव्यांग लोगों को शासन द्वारा बीपीएल पात्रता पर्ची प्राप्त होती है उस पर्ची से प्रति व्यक्ति पांच किलो अनाज मिलता है। कल्याणी श्रीमती मुन्नी शाक्य ने जनसुनवाई में आवेदन प्रस्तुत किया। कुछ समय बाद श्रीमती मुन्नी शाक्य को पंद्रह किलो खाद्यान्न की पात्रता पर्ची कलेक्टर के निर्देश पर जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारी श्री भीम सिंह तोमर द्वारा पिछले मंगलवार को प्रदान की। पात्रता पर्ची पाकर कल्याणी श्रीमती मुन्नी शाक्य गदगद हो उठी और कहने लगी कि अब जिंदगी की गाड़ी कुछ हद तक आगे चल जायेगी। अब राशन की चिंता दूर हो गई है।