बांग्लादेश | में इस्कॉन मंदिर में हुई जमकर तोड़फोड़ के बाद अब यह इंटरनेशनल सोसायटी हमले के विरोध में 23 अक्टूबर को 150 देशों में प्रदर्शन करने की तैयारी में है। इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्णा कॉन्शियसनेस (ISKCON) ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। कोलकाता स्थित इस्कॉन के उपाध्यक्ष राधारमन दास ने बताया कि दुनिया के कई हिस्सों में हिंदुओं को निशाना बनाकर हो रही हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। बांग्लादेश में हिंसा पीड़ितों के लिए 23 अक्टूबर को एक दिन का प्रदर्शन और प्रार्थना सभाएं आयोजित की जाएंगी।

दास ने आगे बताया, 'दुनिया के लगभग 150 देशों में इस्कॉन के केंद्रों पर प्रदर्शन और प्रार्थना सभाएं होंगी।'

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हिंदुओं के खिलाफ हिंसा शुरू हुई थी। इस के विरोध में इस्कॉन ने भारत में कोलकाता सहित कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन किए हैं। इसके अलावा इस्कॉन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संयुक्त राष्ट्र से भी इन हमलों को लेकर हस्तक्षेप की मांग की थी। इस्कॉन के सदस्यों ने कोलकाता में बांग्लादेश के डिप्टी हाई कमिशन के बाहर भी प्रदर्शन किया था।

बीते शुक्रवार को बांग्लादेश के इस्कॉन मंदिर में भीड़ द्वारा भक्तों पर हमला कर दिया गया था। यह हमला बांग्लादेश के नोआखली में हुआ था, जिसकी वजह से कम-से-कम दो लोगों की मौत हो गई थी।

बांग्लादेश के कमिल्ला जिले में दुर्गा पंडाल में कथित तौर पर कुरान के अपमान के बाद देश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा छिड़ गई है। इन हमलों के पीछे जमात-ए-इस्लामी और उसके छात्र संगठन इस्लामी छात्र शिविर का हाथ बताया जा रहा है।