बचपन में दादा-दादी की कहानियों में आपने खजाने का जिक्र सुना होगा. ऐसे खजाने बेहद मुश्किल जगहों पर छिपाए जाते थे. इन्हें ढूंढने के लिए एक के बाद एक कई मुश्किल टास्क पूरे करने पड़ते थे. कहानियों में एक हीरो होता था जो सारी मुसीबतों को पार कर खजाना ढूंढ लेता था. लेकिन असल में ऐसा होता है क्या? वैसे तो आपने कई ऐसी खबरें पढ़ी होगी, जिसमें अचानक लोगों के हाथ छिपा खजाना लग जाता है. लेकिन आज हम आपको जिस खजाने के बारे में बताने जा रहे हैं, वो श्रापित है.
एरिजोना की सुपरस्टीशन पहाड़ियां देखने में बेहद खूबसूरत हैं. ये पहाड़ियां अपनी सुंदरता से लोगों को आकर्षित करती हैं. लेकिन ये जितनी खूबसूरत हैं, उतनी ही जानलेवा भी हैं. इन पहाड़ियों के बारे में कहा जाता है कि इसमें अरबों का सोना छिपा है. सोने की खदान इन पहाड़ियों के बीच कहीं छिपी है लेकिन बीते कई सालों से जो भी इस खजाने को ढूंढने जाता है, उसकी लाश ही बरामद होती है.
मिलती है सिर्फ लाश
खजाने को ढूंढने जाने वाले लोगों की यहां से सिर्फ लाशें बरामद होती है. जानकारी के मुताबिक, 35 साल के बेल्लोप जेसे कैंपेन इस खजाने को ढूंढने गए थे. उन्होंने काफी समय तक इस खजाने के बारे में किताबों में पढ़कर जानकारी इक्कठा की थी. इसके बाद वो एरिज़ोना की इन पहाड़ियों में गए. लेकिन इसके बाद कभी लौटकर नहीं आए. तीन साल के बाद उनकी लाश पहाड़ी की चोटी पर मिली. इसके बाद तीन दोस्त भी इस खजाने की तलाश में निकले. लेकिन पहाड़ियों में गुम हो गए. पुलिस ने 19 दिन उनकी तलाश की लेकिन 6 महीने बाद तीनों की लाश ही हाथ लगी.
बेहद खतरनाक है जानलेवा पहाड़ी
इन पहाड़ियों में एक बार गुम हो जाने के बाद जिन्दा लौट पाना काफी मुश्किल है. पहाड़ी की नुकीली चोटियां, साथ ही इसके भूलभुलैया से लौटना इम्पॉसिबल है. इसके अलावा पहाड़ी में भीषण गर्मी पड़ती है. जाड़े के मौसम में चिलचिलाती ठंड बर्दाश्त के बाहर हो जाती है. ऐसे मौसम में अगर कोई इन पहाड़ियों में खो गया, तो उसके बचने के चान्सेस बेहद कम हैं.
बैन हो गया इंसानों का जाना
खजाना खोजने जाने वालों की मौत की खबरों के कारण अब यहां लोगों के जाने पर बैन लगा दिया गया है. बीते 150 सालों में कई लोग खजाना ढूंढते हुए मारे गए हैं. इस कारण अब यहां सोने की माइनिंग इलीगल कर दी गई है. अगर किसी को यहां सोना मिलता है तो वो सरकार का होगा. लेकिन इसके बावजूद लोग खजाने की तलाश करना बंद नहीं कर रहे हैं. अभी भी कई लोग सोने के खदान की तलाश में इलाके में भटक रहे हैं. कुछ लोगों को सोने के टुकड़े मिलते हैं लेकिन खदान का पता अभी तक नहीं चल पाया है.