मुंबई |90 के दौर में लकी अली की आवाज युवाओं के दिल पर राज करती थी। एक के बाद एक उन्होंने ऐसे कई गाने दिए, जो पूरे देश के लोगों की पहली पसंद बन गए। उन्होंने अपनी आवाज के बूते बॉलीवुड और इंडियन म्यूजिक इंडस्ट्री में वो मुकाम हासिल किया, जो आज तक उनको स्टार बनाता है। उनकी आवाज के चाहने वालों का एक अपना वर्ग था, जो लकी अली की ताकत था। सिर्फ एलबम ही नहीं उन्होंने फिल्मों के लिए भी एक से एक गाने गाए। लेकिन अपनी पर्सनल लाइफ के मामले में लकी अली काफी असफल साबित रहे। उनकी तीन शादियां हुईं लेकिन तीनों ही नहीं चलीं। इन तीन शादियों को लकी अली चला नहीं पाए और आज वह सिंगल जिंदगी बिता रहे हैं। हाल ही में उनकी एक वीडियो वायरल हुई, जहां वो गोवा में गाना गा रहे थे। आइए जानते हैं कि उनकी पर्सनल लाइफ की जिंदगी से जुड़ी खास बातें।म्यूजिक का सफर
लकी अली के म्यूजिक करियर की बात करें तो उसकी शुरुआत साल 1996 में हुई। उन्होंने अपनी एलबम सुनो लॉन्च की थी। इस एलबम में उनके साथ मॉडल एक्ट्रेस मेघन जेन मकक्लियरी दिखाईं दीं थीं। एलबम में साथ काम करने के बाद इनका प्यार परवान चढ़ा और उन्होंने मेघन से शादी कर ली। मेघन और लकी अली की पहली मुलाकात YMCA में हुई थी। मेघन न्यूजीलैंड की रहने वाली थीं। एक इंटरव्यू में अपना किस्सा बताते हुए लकी अली ने कहा था कि मेघन बुधवार को भारत लौटी थीं, गुरुवार को उन्होंने प्रपोज किया था और शुक्रवार को दोनों की शादी हो गई थी। मेघन से लकी अली के दो बच्चे हुए, एक बेटा और एक बेटी। 

अनहिता से की दूसरी शादी
साल 2000 के बाद, अपनी दूसरी पत्नी अनाहिता से मिले। वो एक पारसी महिला थीं। इस दौरान उनकी पहली पत्नी मेघन न्यूजीलैंड में थीं। वो अपनी जिंदगी में पार्टनर की कमी महसूस कर रहे थे। इसके बाद उन्होंने अनाहिता को प्रपोज किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लकी अली ने कहा कि "अनाहिता के साथ काफी वक्त बिताया था। मुझे कभी नहीं लगता था कि मैं उनसे शादी करूंगा।" इस दौरान उन्होंने अपनी दूसरी शादी को लेकर जब पहली पत्नी मेघन को बताया तो उनका रिएक्शन हैरान करने वाला था। अनाहिता के साथ लकी अली के 3 बच्चे हुए। इनाया, रेयान और सारा।

तीसरी पत्नी केट एलिजाबेथ 
साल 2009 में लकी अली की पूर्व मिस इंग्लैंड केट एलिजाबेथ हैल्लम से मुलाकात हुई। साल 2010 में बेंगलुरु में दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली। केट ने लकी के लिए अपना धर्म बदलकर नया नाम अलिशा अली रखा। 2011 में दोनों का एक बेटा हुआ, उसका नाम दानी रखा। लकी अली की ये शादी भी ज्यादा दिन नहीं चली और आज वो अकेले सिंगल जिंदगी बिता रहे हैं।

एक्टिंग में भी आजमाया हाथ
मीना कुमारी के रिश्तेदार और महमूद के बेटे लकी अली ने सिर्फ गाने तक ही अपना करियर सीमित नहीं रखा। वो सबसे पहले 1962 में फिल्म छोटे नवाब में एक्टिंग करते हुए दिखाई दिए। ये रोल उन्होंने बाल कलाकार के रूप में किया। इसके बाद उन्होंने 1970 और 1980 के दौर में ये है जिंदगी, हमारे तुम्हारे, त्रिकाल जैसी फिल्मों में काम किया। इसके बाद उन्होंने संजय गुप्ता की फिल्म कांटे और सुर में अदाकारी की। दोनों ही रोल में उन्हें काफी वाहवाही मिली।