अहमदाबाद | राज्य में पक्षियों की बर्ड फ्लू से मृत्यु की पुष्टि के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है| वडोदरा जिले की सावली तहसील के वसंतपुर में कौवों की मौत बर्ड फ्लू के कारण होने का खुलासा होने के बाद वसंतपुर के आसपास 1 किलोमीटर का क्षेत्र प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर दिया गया है| 0 से 3 किलोमीटर क्षेत्र को संक्रमित और 3 से 10 किलोमीटर के क्षेत्र में अलर्ट क्षेत्र घोषित किया गया है| साथ ही पोल्ट्री फार्म के कर्मचारियों के लिए पीपीई किट पहनना अनिवार्य कर दिया गया| दक्षिण गुजरात के वलसाड जिले में बर्ड फ्लू पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है| वलसाड के सुघढ़ फलिया और अटगाम क्षेत्र में कौवों की बर्ड फ्लू से मौत होने के खुलासे के बाद मुर्गी, चिकन और अंडों की बिक्री पर रोक लगा दी गई है| वहीं नवसारी में कौवों की मौत का सिलसिला जारी है| जिले के चीखली तहसील में कौवों की मौत के बाद गोयडी गांव में तीन कौवों की संदिग्ध मौत हो गई| मृत कौवों के सैम्पल भोपाल के लैब में भेज दिए गए हैं, जहां से रिपोर्ट मिलने के इंतजार है| उत्तरी गुजरात के मेहसाणा जिले के लिए राहत की खबर है| मोढेरा के सूर्य मंदिर के निकट मिले मृत कौवे की रिपोर्ट नेगेटिव आने से प्रशासन ने राहत की सांस ली है| हांलाकि ऐहतियात के तौर पर थोर पक्षी अभ्यारण्य बंद करने का फैसला किया है| थोर पक्षी अभ्यारण्य में दिसंबर और जनवरी के दौरान बड़ी संख्या में यायावर पक्षी आते हैं| अहमदाबाद जिले से 250 पक्षियों के सैम्पल भोपाल लैब भेजे गए थे| इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आने से प्रशासन को बड़ी राहत मिली है|