मिकी शनेल को अभी पिछले साल ही पता चला कि उसके आंतरिक शरीर (internal body) की संरचना लड़की जैसी (girl like) है. जिसमें अंडाशय (ovaries), गर्भाशय (uterus), गर्भाशय ग्रीवा और फैलोपियन ट्यूब सभी कुछ सही हालात में मौजूद हैं. एक साधारण चेकअप (normal check-up) के दौरान डॉक्टर जब उनका अल्ट्रासाउंड (ultrasound) कर रहे थे, तब यह चौंकाने वाली बात सामने आई. हालांकि मिकी पुरुष जननांगों (male genitalia) के साथ पैदा हुई थीं लेकिन उन्हें हमेशा अंदर से एक लड़की होने का एहसास होता रहता था. लेकिन यह अनोखी बात तब पूरी तरह से सामने आई, जब एक सामान्य चेकअप के दौरान, उन्हें पता लगा कि उनके शरीर के अंदर पूरी तरह से विकसित महिला शरीर की संरचना है, जैसे अंडाशय, गर्भाशय, गर्भाशय ग्रीवा (cervix) और फैलोपियन ट्यूब (fallopian tubes). और एक लड़के के रूप में पली-बढ़ी होने के बावजूद किशोरी मिकी शनेल अब गर्भवती (pregnant) हैं.

18 साल की मिकी शनेल का पालन-पोषण हमेशा एक लड़के (boy) के रूप में किया गया. हालांकि मिकी को हमेशा महसूस होता रहा कि वह 'दूसरे लड़कों से अलग है.' जब मिकी अपनी मां के गर्भ (mother's womb) में एक भ्रूण (foetus) के रूप में थीं तो परीक्षणों के दौरान डॉक्टरों ने उनके एक लड़की होने की बात कही थी, इसलिए जब वह पुरुष जननांग (male genitalia) के साथ पैदा हुईं तो उनके परिवार वाले और डॉक्टर हैरान थे. यूएस (US) के बोस्टन में रहने वाले मिकी ने कहा, "यह सभी के लिए बेहद साफ था कि मैं शुरू से ही अलग था. पांच साल की उम्र में मैं अपनी चाची के पर्स के साथ खेलता था और अपनी मां की लिपस्टिक (Lipstick) लगाता था.

डॉक्टर के पास एक सामान्य हेल्थ चेकअप के दौरान सामने आई सच्चाई

मिकी ने कहा, "मैं कभी भी एक लड़के की तरह महसूस नहीं करता था. मैं काफी महिलाओं जैसा था और 'लड़कों के किशोरावस्था' के दौर से कभी नहीं गुजरा. उन्होंने यह भी कहा, "मेरे चेहरे पर बहुत छोटे-छोटे बाल हैं. मेरा शरीर हमेशा से एक स्त्री के आकार का रहा है, जिसके कूल्हे भारी हैं.


मिकी ने कहा, "मैं स्कूल में तंग आ गई थी. तीसरी कक्षा से ही सभी मुझसे कहते थे कि मैं एक 'हिजड़ा' हूं. यह उससे भी पहले की बात है, जब मुझे इसका मतलब पता चला." मिकी 13 वर्ष की आयु में खुद को एक समलैंगिक मानने लगीं और बाद में उन्होंने सोचा कि वे एक ट्रांसजेंडर भी हो सकती हैं.

डॉक्टरों ने मिकी को एक विशेष तरह के सिंड्रोम से पीड़ित बताया

सच केवल पिछले साल अचानक से ही पता चला सका, जब मिकी डॉक्टरों पर कुछ नियमित परीक्षणों के लिए गईं. मिकी ने बताया, "मुझे पेशाब करने और सेक्स करने के बाद एक अजीब सा एहसास हो रहा था, इसलिए मेरे मूत्र मार्ग का अल्ट्रासाउंड किया गया." जिसके बाद "डॉक्टरों ने मुझे बताया कि मेरे पास गर्भाशय ग्रीवा, अंडाशय, गर्भाशय और फैलोपियन ट्यूब हैं और अगर मैं चाहूं तो मैं गर्भवती हो सकती हूं."

मिकी ने बताया, "मैंने वास्तव में सोचा था कि यह एक मजाक था. मुझे यह भी नहीं पता था कि यह संभव था. मैंने हंसते हुए उनसे कैमरा दिखाने को कहा. तब उन्होंने मुझे स्क्रीन पर मेरा गर्भाशय दिखाया."
डॉक्टरों ने मिकी को पर्सिस्टेंट एम इलीरियन डक्ट सिंड्रोम (PMDS) से पीड़ित बताया है. यह एक दुर्लभ स्थिति होती है जिसमें एक व्यक्ति में पुरुष बाहरी जननांग होते हैं, जबकि आंतरिक रूप से उसके प्रजनन अंग किसी महिला के होते हैं. यह जानकारी मिलने के बाद टेस्ट ट्यूब विधि से मिकी ने अपने को प्रेग्नेंट कराया क्योंकि वे एक बच्ची चाहती हैं.