नीतीशजी, ये तो बदजुबानी है:लालू पर बोले- लोग 8-9 बच्चा पैदा करता है, बेटियों के बाद बेटा हुआ; तेजस्वी का जवाब- मोदी भी तो 6 भाई-बहन हैं
 

बिहार में कल 71 सीटों के लिए पहले चरण की वोटिंग है। इससे पहले चुनाव प्रचार में नेता व्यक्तिगत हमले कर रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को महनार की सभा बिहार में प्रजनन दर कम करने के अपने प्रयासों की बात कही। इसी दौरान लालू प्रसाद यादव का नाम लिए बिना निशाना साधा- किसी को चिंता है? लोग आठ-नौ बच्चा पैदा करता है। बेटियों पर भरोसा ही नहीं था। कई बेटियां हो गईं तब बाद में बेटा हुआ।

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश ने मेरे परिवार पर बयान देकर एक तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। मोदी के 6 भाई-बहन हैं। नीतीश ने न केवल महिलाओं का अपमान किया, बल्कि मेरी मां की भावनाओं को ठेस पहुंचाई। वे मुख्य मुद्दों महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी को छोड़कर बाकी सब पर बात कर रहे हैं।


आजकल लोग बहाली-उहाली की बात करता है

नीतीश ने कहा- आजकल लोग बहाली-उहाली की बात करता है, यह पहले क्यों नहीं किया। जिनको काम का अनुभव नहीं है, वे कुछ भी बोल सकते हैं। हम लगातार काम करते रहे हैं। कभी हम कहीं छुट्‌टी पर गए क्या? हमलोग सबको कहते हैं कि सेवा कीजिए, लेकिन कुछ लोग सिर्फ मेवा खाने की बात करते हैं।

चुनाव के समय लोगों की तरह-तरह की बातें करने की आदत होती है। हमने तो हर तबके का विकास किया। हमारी विकास योजनाओं में हर धर्म-मजहब के लोग शामिल हैं। आज महिला और पुरुष सब काम में लगे हैं, बिहार के विकास में हाथ बंटा रहे हैं। साइकिल योजना से लड़कियों का आत्मविश्वास बढ़ा। विद्यार्थियों के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की व्यवस्था की। जो सात निश्चय की बात कही, उसे पूरा किया।

नीतीश ने सकरा से की चुनावी सभा की शुरुआत

नीतीश कुमार ने विजयादशमी के दिन अपनी चुनावी सभा की शुरुआत मुजफ्फरपुर के सकरा से की। विरोधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों की रुचि बयानबाजी में है, हम सिर्फ काम में विश्वास करते हैं। जिनको अनुभव नहीं है, वे अपने सलाहकार के माध्यम से अनाप-शनाप बोलते हैं। इसमें उनको प्रचार मिलता है। हमारे लिए हमारा काम ही प्रचार और आप सबकी सेवा करना ही धर्म है।