जबलपुर । रेल मंडल जबलपुर के साढ़े 17 हजार कर्मियों के लिए शुक्रवार का दिन खुशी लेकर आया। बोनस की घोषणा के बाद कर्मचारियों के खाते में लगभग 29 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए। कर्मचारियों को 78 दिनों के हिसाब से 17951 रुपए का भुगतान किया गया। रेल कर्मचारियों को बोनस दिलाने के लिए एआईआरएफ और डब्ल्यूसीआरईयू की ओर से 15 दिन तक धरना-प्रदर्शन और आंदोलन किया गया। इसके बाद केंद्र सरकार को बोनस देने की घोषणा करनी पड़ी। शुक्रवार को कर्मचारियों के खाते में बोनस की रकम पहुंची तो उनकी खुशी देखते ही बन रही थी। डब्ल्यूसीआरईयू के मंडल सचिव नवीन लिटोरिया व मंडल अध्यक्ष बीएन शुक्ला ने कहा कि रेल कर्मचारियों ने यूनियन के प्रति जो विश्वास और एकता जताई है, उसी का परिणाम है कि केंद्र सरकार को बोनस देने मजबूर होना पड़ा। भविष्य में कर्मचारियों के भत्ते, निजीकरण सहित अन्य मुद्दों पर संघर्ष के लिए तैयार रहना होगा।

रेलकर्मियों के खातों में पहुंची बोनस
प्रत्येक रेलकर्मी को 7000 की सीलिंग लिमिट के तहत 78 दिनों के हिसाब से 17951 रुपए बोनस देने की घोषणा हुई थी। शुक्रवार को लगभग 17 हजार 500 रेल कर्मचारियों के खातों मे 29 करोड़ की राशि डायरेक्ट बैंक एकाउंट में क्रेडिट हो गई।