नई दिल्ली । देश में पक्ष-विपक्ष के बीच राजनीति का सबब बने चर्चित हाथरस केस की जांच अब सीबीआई करेगी। सीएम योगी आदित्यनाथ  ने उच्चस्तरीय बैठक के बाद फैसला लिया। सीबीआई जांच की सिफारिश से पहले उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी और डीजीपी हितेष चंद्र अवस्थी ने हाथरस में पीड़ित परिवार से मुलाकात की। जिसके बाद ये फैसला लिया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे लेकर ट्वीट भी किया। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि 'हाथरस की दुर्भाग्यपूर्ण घटना और जुड़े सभी बिंदुओं की गहन पड़ताल के उद्देश्य से इस प्रकरण की विवेचना सीबीआई के माध्यम से कराने की संस्तुति कर रही है। इस घटना के लिए जिम्मेदार सभी लोगों को कठोरतम सजा दिलाने के लिए हम संकल्पबद्ध हैं। हालांकि सीबीआई जांच के फैसले के साथ ही सियासत अपना नफा नुकसान ढूंढने लगी है। कांग्रेस इसे अपनी जीत बता रही है। वहीं समाजवादी पार्टी कह रही है कि हम तो पहले दिन से ही सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। इन सबके बीच सवाल ये है कि सिसायत को बेटी के लिए न्याय चाहिए या अपने लिए वोट। दरअसल जो लोग उत्तर प्रदेश  सरकार को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं। क्या वे सीबीआई जांच पर भरोसा करेंगे।