15 अगस्त 2020 को भारत की स्वतंत्रता की 73 वीं वर्ष पूरे होंगे। एक सदी के लिए हमारे बहादुर दिलों के नेतृत्व देश के लिए लड़े थे। उनका समर्पण और बलिदान ही एकमात्र कारण है जिसे अब हम सबसे बड़ा लोकतंत्र देश कहते हैं। आज के तारीख में अब सिपाही शब्द की परिभाषा में पुलिस, डॉक्टर और चिकित्सा व्यवसायी भी शामिल हैं। इस देशभक्ति दिवस के दिन दंगल टीवी के सितारों ने देशभक्ति का अर्थ अपने शब्दो में साझा किया है। फ्रंट लाइन कार्यकर्ताओं को किया सलाम
 

अपर्णा दीक्षित, प्यार की लुका छुपी
मेरा मानना है, हर रोज, हमें अपने उन नायकों को सलाम करना चाहिए जो हमारी सेवा करते हैंऔर हमारी रक्षा करते हैं। सिर्फ एक दिन उनका महत्व मनाना सही नहीं है। वे हमें, अपनी जानजोखिम में डालकर, शांति से जीने देते हैं। लॉकडाउन के दौरान, मुझे लगता है कि जिम्मेदारियां बढ़ गई हैं और हमारे नायक अपने कर्तव्यों को पूरा करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। हमारे डॉक्टर, पुलिसकर्मी हमें सुरक्षित और संरक्षित रखने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। हमें नागरिकों के रूप में गर्व और उनके प्रति आभारी होना चाहिए। ये वे नायक हैं, जिनका हमें इस स्वतंत्रता दिवस पर सम्मान और सराहना करनी चाहिए।

शीतल मौलिक, प्यार की लुका छुपी
जब मैं छोटी थी मैं तबसे सेना, नौसेना, वायु सेना या उन लोगों के विचार से मंत्रमुग्ध होती थी जो राष्ट्र की सेवा करते हैं। और मुझे लगता है कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि एक सेना पृष्ठभूमि वालेपरिवार में मेरी शादी हुई है। अगर मैं पुलिस के बारे में भी बात करूं, तो महामारी के दौरान कई अधिकारी थे जो संक्रमित हो गए थे, लेकिन ठीक होने के बाद, वे फिर से सेवा के लिए आए और हमारी रक्षा की, ताकि हम अपने परिवार के सदस्यों के साथ सुरक्षित रह सकें। और यह एक बहुत बड़ी बात है। मेरे घर में, क्युकी मेरे ससुर सेना में ब्रिगेडियर थे, इसलिए मैंने सेना के अधिकारियों को बहुत करीब से देखा और जाना है। मैं अपनी बेटी को बताती हूं कि हम इस संस्कृति से कैसे जुड़े हैं, यह दिन हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है, यह हमारे लिए सिर्फ छुट्टी नहीं है, बल्कि हमें इससे कुछ सीखना है। इसलिए मैं अपनी बेटी को फिल्म या किताब के माध्यम से स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बताने की कोशिश करती हूं। मुझे लगता है कि प्रत्येक छोटा योगदान मायने रखता है; एक जिम्मेदार नागरिक होने के लिए कुछ बड़ा करना आवश्यक नहीं है। इस देश को बेहतर बनाने के लिए सैनिक होना या सेना में होना जरूरी नहीं है लेकिन आप सिर्फ एक जिम्मेदार नागरिक बने।

दयाशंकर पांडे, महिमा शनिदेव की
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर, मैं भारतीय पुलिस बल के बारे में बात करने का अवसर लेना चाहता हूं। भारतीय पुलिस बल को अपराधियों के खिलाफ लड़ने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है, लेकिन इस साल, वे घातक कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ने के लिए मजबूर हो गए। अपने करियर में, मैंने पुलिस अधिकारियों की कई भूमिकाएँ निभाई हैं और पुलिस अधिकारियों को इतनी बहादुरी के साथ इस महामारी की स्थिति से लड़ते देखकर मुझे गर्व महसूस होता है। पुलिस अधिकारियों और उनके परिवार के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है। इस कोरोना वायरस महामारी के बीच, हमारे बहुत से अधिकारियों ने हमारी जान बचाते हुए अपने प्राणों की आहुति दी और फिरभी उन्होंने अपने कर्तव्य को निभाने से इनकार नहीं किया। मेरे लिए, यह स्वतंत्रता दिवस, हमारे असली नायक हमारे पुलिस अधिकारी हैं और मैं उन्हें तहे दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा। बहादुरी के साथ लड़ने के लिए, मैं हमारे अधिकारियों और उनके परिवारों को नमन करता हूं।

एलन कपूर, प्यार की लुका छुपी
स्वातंत्र्य दिवस, 15 अगस्त 1947, ये शबद बोलते ही इक गर्व महसूस होता है| जब मैं छोटा था तो मुझे स्वतंत्र होने के महत्व का एहसास नहीं था, लेकिन अब ये सभी चीजें अत्यधिक गर्व की भावना पैदा करती हैं। आज के समय में भी, सीमा पर या पुलिस बल या कोई अधिकारी ही है जो हमें स्वतंत्र रूप से जीने का अवसर देने में योगदान दे रहे हैं। मैंने हमेशा इन अधिकारियों का सम्मान किया लेकिन मुझे इन पदों के महत्व का एहसास तब हुआ जब मैंने खुद वर्दी पहनी और एक प्रशिक्षु पुलिस अधिकारी की भूमिका निभाई। हम अभिनेताओं के रूप में हमेशा ऐसी भूमिकाएँ करने की कोशिश करते हैं जो लोगों को प्रेरित करती हैं और जब आपको इस तरह की सशक्त भूमिका निभाने का मौका मिलता है जिससे आपको गर्व महसूस होता है, तो यह एक बेहतरीन एहसास है। मैं वर्दी पहनने के लिए महसूस किए गए गर्व की मात्रा को शब्दों में नहीं बता सकता। मैं आभारी हूं कि हम एक स्वतंत्र भारत में पैदा हुए हैं और इस स्थिति को प्राप्त करने के लिए किए गए प्रयासों और बलिदानों को हम नहीं भूले और इसे हल्के में ना ले।

राहुल शर्मा, प्यार की लुका छुपी
स्वतंत्रता दिवस हम सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मेरे पास स्कूल में इस दिन को मनाने की खूबसूरत यादें हैं। हम 15  तारीख से कुछ हफ्ते पहले परेड, नृत्य, स्टंट और कई अन्य गतिविधियों की तैयारी शुरू कर देते थे। यह सब हमारे स्वतंत्रता सेनानियों की कहानियों से जुड़ा हुआ होता था। इन घटनाओं की यादें उनके द्वारा किए गए महान बलिदानों की याद दिलाती हैं, जिनके कारण हम आज अपनी स्वतंत्रता का आनंद ले सकते हैं। मेरे लिए आजादी एक ऐसी चीज है जिसके लिए किसी और ने लड़ाई लड़ी और बाकी लोग इसका आनंद ले रहे हैं। इसलिए, यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मुझे उम्मीद है कि हर कोई इसका सम्मान करेगा। हमारी सीमाओं पर हमारे सैनिक जो हमारे आरामदायक जीवन की रक्षा करते हैं। वे वो लोग है जो हमारे देश में लाखों लोगों की रक्षा के लिए अपनी जान देते हैं। वे कारण हैं कि हमारी स्वतंत्रता सुरक्षित है। यह हमारी ज़िम्मेदारी है कि किसी तरह से उनका और उनके परिवारों का समर्थन करें और अगर नहीं तो बस उनके लिए प्रार्थना करें।