वाशिंगटन । अमेरिका के राष्ट्रपति अब अत्याधुनिक हाइपरसोनिक प्लेन में उड़ान भरेंगे। विमान हाइपरसोनिक इंजन से लैस हो गया तो न्यूयॉर्क से लंदन की दूरी मात्र 90 मिनट में तय कर सकेंगे। अभी इस यात्रा के लिए करीब 7 घंटे का समय लगता है। यहा हाइपरसोनिक विमान एक कंबाइंड टर्बोफैन डिजाइन पर आधारित है जो एक सामान्य टर्बोफैन इंजन और रैमजेट दोनों को एक इंजन में फ्यूज करता है। एक सामान्य टर्बोफैन इंजन सामने से हवा को खींचकर प्रेशर से पीछे धकेलता है। इस इंजन से मिली ताकत के कारण ही प्लेन सबसोनिक गति से उडऩे में सक्षम होता है।
एयरफोर्स वन की खासियत
अमेरिकी राष्ट्रपति का विमान एयरफोर्स वन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। यह अमेरिकी राष्ट्रपति के ऑफिस के रूम में काम करता है। इसका इस्तेमाल मोबाइल कमांड सेंटर की तरह किया जा सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति अपने विमान में होने के बावजूद दुनिया में किसी भी व्यक्ति के संपर्क में रह सकते हैं। एयर फोर्स वन कभी अकेला नहीं उड़ता है, इसके आगे पीछे विमान उड़ते रहते हैं जो इस विमान को सुरक्षा मुहैया भी कराते हैं।