प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लद्दाख दौरे पर अब राजनीति शुरू हो चुकी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने इंदिरा गांधी के लेह दौरे की एक तस्वीर साझा की है। साझा की गई तस्वीर में इंदिरा गांधी सेना जवानों को संबोधित करती नजर आ रही हैं। तस्वीर के साथ मनीष तिवारी ने लिखा, 'जब वह (इंदिरा) लेह गई थीं तो पाकिस्तान को दो भागों में बांट दिया गया था। देखते हैं वह (मोदी) क्या करेंगे?'

अचानक लद्दाख पहुंचे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को चीफ और डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे के साथ लेह पहुंच गए। उन्होंने सीमा पर अग्रिम मोर्चे नीमू का जायजा लिया। उन्होंने यहां थलसेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात की। प्रधानमंत्री को सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने मौजूदा स्थिति की पूरी जानकारी दी।

सीडीएस सेना की तैयारियों का लेंगे जायजा
सीडीएस जनरल रावत आज पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के खिलाफ अपनी तीनों सेनाओं की तैयारियों का जायजा लेने के लिए पूर्वी लद्दाख में हैं। साथ ही सीमा पर तनाव कम करने की प्रक्रियाओं के बारे में भी वह जानकारी लेंगे। जनरल रावत सेना प्रमुख के तौर पर चीनी सेना के समक्ष खड़े रह चुके हैं। वर्ष 2017 में दोकलम में 73 दिनों तक भारतीय सेना चीनी सेना के समक्ष डटी रही थी।

देशवासियों को अपने प्रधानमंत्री पर गर्व है: रविशंकर प्रसाद
केंद्रीय मंत्री ने ट्विटर पर लिखा, 'सौगन्ध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं झुकने दूंगा। गर्व है देशवासियों को अपने प्रधानमंत्री पर जो आज स्वयं लेह पहुंच कर सेना के वीर जवानों का उत्साह वर्धन कर रहे हैं।'

प्रधानमंत्रीजी को धन्यवाद देता हूं: राजनाथ
भारतीय सेना के रहते देश की सीमाएं हमेशा सुरक्षित रही हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
का आज लद्दाख जाकर सेना के जवानों से भेंट करके उनका उत्साहवर्धन करने से निश्चित रूप से सेना का मनोबल और ऊंचा हुआ है। मैं प्रधानमंत्रीजी के इस कदम की सराहना करते हुए उन्हें धन्यवाद देता हूं।