भोपाल।

लंबे समय बाद मध्य प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग ने अतिथि विद्वानों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी है। आपको बता दें कि अतिथि विद्वानों की ये नियुक्तियां 12 महीने या नियमित असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति होने तक रहेगी। उच्च शिक्षा विभाग ने सभी कॉलेजों को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। आदेश के मुताबिक आमंत्रित अतिथि विद्वानों की उपस्थिति 8 जुलाई तक दर्ज की जाएगी।

आदेश में कहा गया है कि बीते कई महीनों से कोरोना वायरस की वजह से संबंधित कॉलेजों को अतिथि विद्वानों को ऑनलाइन ही आमंत्रित करना होगा। कोई भी कॉलेज किसी भी अतिथि विद्वान को ऑफलाइन आमंत्रित नहीं कर सकेगा. ऐसा करने वाले कॉलेजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।   उच्च शिक्षा विभाग की तरफ से जारी आदेश के मुताबिक 13 जुलाई तक कॉलेजों को अतिथि विद्वानों की रिक्त पदों की जानकारी संचालनालय को देनी होगी। इसके बाद संचालनालय की तरफ से रिक्त पदों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।