बनासकांठा | जिले के हाथावाडा गांव में मामी के साथ नाजायज संबंधों बाधक बड़े भाई की छोटे भाई ने हत्या कर दी| हत्या करने के बाद लाश जला दी और उसकी हड्डियां नहर में फैंक दीं| सबसे छोटे भाई की शिकायत के आधार पर पुलिस ने मृतक के भाई, मामी और उसके पुत्र को गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई शुरू की है| जानकारी के मुताबिक बनासकांठा जिले की थराद तहसील के जाणदी गांव निवासी सवदास कानजी पटेल के हाथावाडा गांव निवासी उसकी मामी धुडी रखा पटेल के साथ नाजायज संबंध थे| मामी-भांजे के नाजायज संबंध में बड़ा भाई शिवदास पटेल सबसे बड़ी बाधा था| जिससे धुडी और सवदास ने शिवदास को रास्ते हटाने की योजना बनाई| इसके अंतर्गत 19 जून को शिवदास के अपनी मामी के घर हथवाडा पहुंचने धुडी पटेल ने फोन कर सवदास पटेल को बुला लिया| जहां घर के आंगन में सो रहे शिवदास पर कुल्हाडी से चार-पांच वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया| बाद में सवदास, धुडी और उसके पुत्र दिलीप ने शव को बोरी में भरा और खेत ले गए| जहां जीरे की डालियों में लाश रखकर उसे जला दी| बाद में हड्डियां वामी गाम के निकट से बहती नर्मदा कैनाल में बहा दी| दूसरी ओर दो दिन तक बड़े भाई शिवदास के नहीं लौटने पर सबसे छोटे भाई अशोक पटेल समेत परिजनों ने स्थानीय पुलिस को इसकी जानकारी दी| पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर घटनास्थल तक पहुंच गई और पूरे मामले का पर्दाफाश कर दिया| अशोक पटेल की शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर सवदास पटेल, धूडी पटेल और उसके पुत्र दिलीप पटेल को गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही शुरू की है|