भोपाल। ग्वालियर‑चंबल संभाग से भाजपा के बड़े नेता बालेन्दु शुक्ल के कांग्रेस में शामिल होने के बाद भाजपा बड़े पैमाने पर बगावत की आशंका से डरी हुई है। माना जा रहा है कि ग्वालियर‑चंबल संभाग के कई नेता चुनाव के ठीक पहले पार्टी से बगावत कर कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं या भाजपा उम्मीदवार को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए नाराज नेताओं को मनाने का जिम्मा मंत्री नरोत्तम मिश्रा को सौंपा गया है।
माना जा रहा है कि टिकट कटने की आशंका के चलते कद्दावर नेता अनूप मिश्रा, जयभानसिंह पवैया, माया सिंह, सतीश सिकरवार, नारायण कुशवाह चुनाव से ठीक पहले भाजपा से बगावत कर कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं या भितरघात कर सकते हैं।
 

कई नेता कांग्रेस के संपर्क में
ग्वालियर‑चंबल संभाग के कई बड़े नेता कांग्रेस के संपर्क में हैं। इन्हें कांग्रेस में शामिल कर टिकट दिया जा सकता है।
 

इमरतीदेवी ने कहा मुझे भाजपा में घुटन नहीं मुझे तो मंत्री बनना है
ज्योतिरादित्य सिंधिया की कट्टर समर्थक व कमलनाथ सरकार में मंत्री रहीं इमरती देवी ने कहा कि उन्हें भाजपा में किसी तरह की कोई घुटन नहीं हो रही है। उन्हें आज नहीं तो कल मंत्री बनना ही है। उन्होंने कहा कि भाजपा में हमारा पूरा सम्मान हो रहा है और हम खुश हैं। वे कल डबरा में कार्यकर्ताओं से चर्चा कर रही थीं। इमरती देवी ने कहा कि घुटन तो कांग्रेसियों को हो रही है, क्योंकि उनके हाथ से सत्ता और नेताओं से मंत्री पद जो चला गया है। इमरती देवी कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले सिंधिया समर्थकों में हैं।