भोपाल : किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि महिला स्व-सहायता समूहों को हरसंभव मदद की जाएगी। श्री पटेल राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) द्वारा महिला स्व-सहायता समूहों के संबंध में आयोजित कार्यक्रम और नीतियों पर ऑनलाइन कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। मंत्री श्री पटेल ने स्व-सहायता समूह की महिलाओं के लिये कार्यशाला को उपयोगी बताया। उन्होंने कहा कि निश्चित ही इससे महिलाएँ लाभान्वित होंगी और वे अपने उत्पादों को बेहतर गुणवत्ता से तैयार कर सकेंगी। सरकार स्व-सहायता समूहों को सशक्त बनाने और महिलाओं के आर्थिक सुदृढ़ीकरण के लिये आवश्यक सहायता उपलब्ध करायेगी। कार्यशाला को नाबार्ड, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, सेडमेप, क्रिस्प, एनसीसीई दिल्ली के विशेषज्ञों ने संबोधित करते हुए स्व-सहायता समूहों को अपने उत्पादों के लिये कच्ची सामग्री की उपलब्धता, कम लागत में गुणवत्तापूर्ण सामग्री तैयार करने के लिये आधुनिक तकनीक के उपयोग और उत्पादों की मार्केटिंग और बाजार पहुँच की सुचारु व्यवस्था की जानकारी दी।