इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर में एरोड्रम थाना इलाके (Aerodram Thana Area) में गुरूवार की देर रात कुछ दोस्त एक खाली मकान में बैठकर पार्टी कर रहे थे. इस पार्टी में सावंत सोनी (Sawant Soni) और देवेंद्र (Devendra) भी शामिल थे. दोनों बीते 12 सालों से बहुत अच्छे दोस्त रहे. कुछ समय पूर्व सावंत (मृतक) ने अपने दोस्त देवेंद्र उर्फ़ भय्यू को तीन हजार रुपये उधार (Three Thousand Rupees) दिए थे. 21 मई की रात की पार्टी के दौरान सावंत ने देवेंद्र से उधार पैसे मांगे, तो देवेंद्र ने कुछ पैसे दिए लेकिन इस दौरान उन दोनों के बीच तनातनी हो गई. सावंत ने कहा कि उसे इसी वक़्त पूरे पैसे देने होंगे. इसके साथ ही सावंत ने यह भी कहा कि वह शराब पीते हुए पैसों को हाथ नही लगाता. इसके बावजूद देवेंद्र इस बात पर अड़ा रहा कि सावंत को पैसे तो हाथ में पकड़ने ही पड़ेंगे. इस बात से नाराज होकर सावंत ने अपने दोस्त देवेंद्र को थप्पड़ मार दिया जिससे देवेंद्र भड़क गया. उसने उसे धमकी देते हुए कहा कि जल्द ही उसका पूरा हिसाब कर देगा. यह कहकर वह वहाँ से भाग कर अपने घर गया और थोड़ी देर बाद वापस चला आया. उसके हाथ में चाक़ू था. देवेंद्र ने सावंत पर चाकू से हमला कर दिया. चाक़ू द्वारा घायल हुए सावंत सोनी को गंम्भीर अवस्था में निजी अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहाँ चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

विवाद में शराब की भी महत्वपूर्ण भूमिका

हत्या के पीछे भले ही रुपयों का लेने-देन का विवाद हो सकता है. लेकिन एक बात यह भी है कि दोनों साथ बैठकर शराब पी रहे थे. यह सवाल उठ रहा है कि लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें बंद हैं तो आरोपित शराब कहां से लेकर आया. शराब से जुड़े विवाद का यह पहला मामला नहीं है. शराब की दुकानें भले ही बंद हो, लेकिन शहर में धडल्ले से शराब बिक रही है. कर्फ्यू के बाद भी लोग शराब लेकर आ रहे है.

पुलिस ने कई व्यक्तियों को हिरासत में लिया


जिले के तमाम वरिष्ठ अफसर रात के वक़्त सख्ती का दावा कर रहे हैं. इसके बावजूद एरोड्रम इलाके में दो दिनों में लूट और हत्या जैसी बड़ी वारदाते हुई है. एरोड्रम थाना प्रभारी अशोक पाटीदार के मुताबिक यह मामला दो दोस्तों के आपसी झगड़े का है, जिसमें देवेंद्र उर्फ़ भय्यू ने सावंत सोनी पर चाकू से हमला किया और इस हमले में उसकी मौत हो गई. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आरोपी की भी पहचान हो गई है. पुलिस को कुछ अन्य व्यक्तियों पर हत्या को लेकर संदेह है, उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ भी की जा रही है.