उत्तर पूर्वी दिल्ली के सोनिया विहार में पांच बच्चों की मां ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की पत्थर से पीटकर हत्या कर दी। इसके बाद पहचान मिटाने के लिए चेहरे को भी जलाया। करीब चार दिन बाद पुलिस को मृतक की पहचान 40 वर्षीय बच्चा लाल के रूप में हुई। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस दौरान पुलिस ने मामले में मृतक की पत्नी 40 वर्षीय शीला और उसके प्रेमी वकील को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हत्या में प्रयोग खून से सने पत्थर, कागज, साड़ी समेत अन्य सामान बरामद किया है।

डीसीपी वेद प्रकाश सूर्या ने बताया कि छह फरवरी को सोनिया विहार के चौहान पट्टी यमुना खादर में एक शव पड़े होने की सूचना पुलिस को मिली। पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां मृतक के चेहरे को पत्थर से पीटकर क्षतिग्रस्त व जलाया गया था। उसकी पहचान नहीं हो रही थी, पुलिस ने शव को जीटीबी अस्पताल के शव गृह में भिजवा दिया। पुलिस ने पहचान के लिए इलाके में घर-घर जाकर लोगों से पूछताछ की। वह समाजिक संगठनों से संपर्क किया। इस दौरान मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के बलिया स्थित गंगोली गांव के रहने वाले के रूप में हुई। वहां से पता चला कि मृतक गाजियाबाद के लोनी स्थित कृष्णा विहार में परिवार के साथ रहता था। वह मजदूरी का काम करता था। पुलिस लोनी पहुंची और मृतक की पत्नी से पूछताछ की।

इस दौरान पता चला कि मृतक की पत्नी का वकील नाम के युवक से अवैध संबंध है। वकील मृतक बच्चा लाल के साथ ही काम करता था। दोनों के बीच अवैध संबंध का पता चलने पर बच्चा लाल सोनिया विहार के यमुना खादर झुग्गी में अकेले आकर रहने लगा था। उसने शीला को रुपये देना भी बंद कर दिया था। वहीं बच्चा लाल ने कृष्णा विहार में 50 गज का एक प्लॉट खरीद रखा था। शीला और वकील ने प्लॉट पर कब्जा करने के लिए बच्चा लाल की हत्या की साजिश रख डाली। 23 जनवरी को बच्चा लाल और वकील लाजपत राय मार्केट में काम खत्म कर घर के लिए निकले।

इस दौरान वकील उसका पीछा करते हुए युमना खादर के पास पहुंचे। वहां पहले से शीला भी मौजूद थी। वकील ने पीछे से बच्चा लाल पर हमला कर दिया और पत्थर से पीटकर उसकी हत्या कर दी। शव को वहां के कूड़े में ठिकाने लगा दिया। आरोपी शकील उत्तर प्रदेश के बलिया का रहने वाला है। दोनों एक साथ ही काम करते थे। वकील का उसके घर पर आना  जाना था। इस दौरान शीला से उसकी जनदीकियां बढ़ गई। शीला के पांच बच्चे हैं।