महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन के महाविकास अघाड़ी को तगड़ा झटका लगा है. उद्धव सरकार बनने के महज एक हफ्ते के अंदर ही ठाणे जिले की भिवंडी महानगर पालिका के मेयर चुनाव में बीजेपी गठबंधन ने चुनाव जीत लिया.
महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन के महाविकास अघाड़ी को तगड़ा झटका लगा है. उद्धव सरकार बनने के महज एक हफ्ते के अंदर ही ठाणे जिले की भिवंडी महानगर पालिका के मेयर चुनाव में बीजेपी गठबंधन ने चुनाव जीत लिया. बता दें कि इस चुनाव में महाविकास अघाड़ी की तरफ से कांग्रेस का उम्मीदवार चुनाव मैदान में था.

ठाणे जिले की भिवंडी से मेयर चुनाव में बीजेपी समर्थित कोणार्क विकास अघाड़ी की प्रतिभा पाटिल ने जीत दर्ज की. वहीं, कांग्रेस पार्टी के बागी इमरान खान डिप्टी मेयर बनने में सफल रहे.

90 में से कांग्रेस-शिवसेना के 59 पार्षद थे

बता दें कि कुल 90 सीटों में से कांग्रेस-शिवसेना के 59 पार्षद थे. वहीं, बीजेपी समर्थित कोणार्क विकास अघाड़ी के पास सिर्फ 31 पार्षद थे. हालांकि, जब अंतिम परिणाम आया तो कांग्रेस के 47 में से 18 पार्षदों ने बीजेपी के पक्ष में मतदान किया और कोणार्क विकास अघाड़ी की उम्मीदवार प्रतिभा पाटिल 49 वोटों के साथ मेयर चुनी गईं. वहीं, कांग्रेस उम्मीदवार रिषिका राका को सिर्फ 41 वोट मिले.

इस तरह पूर्व महापौर प्रतिभा पाटिल एक बार फिर महापौर चुनी गईं. वहीं, पूर्व उपमहापौर कांग्रेस के बागी नगरसेवक इमरान खान दूसरी बार उपमहापौर चुने गए.

बता दें कि 90 नगरसेवकों वाली भिवंडी में कांग्रेस के पास बहुमत थे और उसके 47 सदस्य थे. वहीं, बीजेपी के 20, शिवसेना के 12, कोणार्क विकास अघाड़ी के 4, आरपीआई एकतावादी के 4, समाजवादी पार्टी के 2 और दो निर्दलीय सदस्य हैं.

संख्या के आधार पर कांग्रेस के पास बहुमत था

संख्या बल के आधार पर कांग्रेस के पास बहुमत होने के बावजूद महापौर और उपमहापौर के चुनाव में कांग्रेस ने शिवसेना के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था, जिससे कांग्रेस खेमे में 59 नगरसेवक हो गए थे. कांग्रेस खेमे में बहुमत के आधार पर 13 नगरसेवक अधिक थे, जिसके कारण कांग्रेस-शिवसेना ने महापौर के लिए कांग्रेस की नगरसेविका रिषिका राका और उपमहापौर के लिए शिवसेना के नगरसेवक बालाराम चौधरी को उम्मीदवार बनाया था.

कांग्रेस के 18 नगर सेवक बीजेपी समर्थित गठबंधन में चले गए

वहीं, कोणार्क विकास अघाड़ी ने महापौर के लिए प्रतिभा पाटिल और उपमहापौर के लिए कांग्रेस के बागी नगरसेवक इमरान खान को उम्मीदवार बनाया था. लेकिन महापौर चुनाव से पहले ही कांग्रेस के 18 नगरसेवक कोणार्क विकास अघाड़ी के साथ चले गए. जिसके कारण आज हुए महापौर पद के चुनाव में कोणार्क विकास अघाड़ी की उम्मीदवार प्रतिभा पाटील को 49 मत और कांग्रेस-शिवसेना की उम्मीदवार रिषिका राका को 41 मत मिला. इस वजह से कोणार्क विकास अघाड़ी की प्रतिभा पाटील ने रिषिका राका को 8 मतों से पराजित कर दूसरी बार फिर महापौर चुन ली गईं.

वहीं, उपमहापौर के चुनाव में कांग्रेस से बगावत कर कोणार्क विकास अघाड़ी के साथ चुनाव लड़ने वाले इमरान खान को भी 49 मत और कांग्रेस-शिवसेना के उम्मीदवार शिवसेना नगरसेवक बालाराम चौधरी को 41 मत मिला. शिवसेना नगरसेवक बालाराम चौधरी को 8 मतों से पराजित कर इमरान खान दूसरी बार उपमहापौर चुने गए.