टकरा रहे हैं बाला व सेटलाइट शंकर

आज बॉक्स ऑफिस पर दो फिल्में रिलीज हो रही हैं. बॉक्स ऑफिस पर आयुष्मान खुराना की 'बाला' को टक्कर देने के लिए सूरज पंचोली की 'सैटेलाइट शंकर' रही है. दोनों ही फिल्मों का सब्जेक्ट एक दूसरे से बिल्कुल अलग हैं. एक फिल्म जहां दर्शकों को हंसाने का काम कर रही है तो वहीं दूसरी फिल्म में सेना के एक जवान की कहानी को दिखाया गया है.

'बाला'

आयुष्मान खुराना की फिल्म 'बाला' एक कॉमेडी फिल्म है जिसमें हंसी मजाक के साथ एक बेहद अहम मैसेज भी ऑडियंस को दिया गया है. फिल्म में आयुष्मान खुराना एक ऐसे शख्स के किरदार में नजर रहे हैं जो सिर्फ 25 साल की उम्र में ही बालों के झड़ने की समस्या से जूझ रहा है और लगभग आधा गंजा हो चुका है. इसके अलावा भूमि पेडनेकर एक ऐसी महिला के किरदार में हैं जिसका रंग काला है और उसे इसके चलते समाज में काफी नीचा दिखाया जाता है. इसके अलावा इसमें यामी गौतम भी नजर रही हैं जो कि एक टिकटॉक स्टार हैं और समाज के द्वारा तय किए गए खूबसूरती के हर पैमाने पर खरी उतरती हैं. इस सब के बीच फिल्म खुद को अपनाने का संदेश दर्शकों को देती है. फिल्म का निर्देशन अमर कौशिक ने किया है जो कि इससे पहले 'स्त्री' बना चुके हैं.

'सैटेलाइट शंकर

सूरज पंचोली स्टारर 'सैटेलाइट शंकर' एक फौजी की कहानी है जो अपने देश के लिए मर मिटने को तैयार हैफिल्म में शंकर एक ऐसा फौजी है जो लंबे समय बाद छुट्टी लेकर अपने घर जाता है. जिस समय वो छुट्टी मांगता है तो उसके सीनियर उससे एक शपथ मांगते हैं जिसमें वो वापस आने का समय और दिन बताकर जाता है. लेकिन घर पहुंचने से पहले ही वो किसी की मदद के लिए रुक जाता है और विवाद में फंस जाता है. इस सबके बाद एक बहस शुरू होती है सही और गलत के बीच. फिल्म का निर्देशन इरफान कमल ने किया है. यहां आपको बता दें कि सूरज पंचोली ने साल 2015 में फिल्म 'हीरो' से डेब्यू किया था. उसके बाद ये अब उनकी दूसरी फिल्म है.