सागरः मध्यप्रदेश के सागर जिले (Sagar) में आर्थिक तंगी के कारण एक परिवार के चार सदस्यों ने जहरीला पदार्थ खा लिया, जिसमें से तीन की मौत हो गई है और एक जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहा है. पुलिस के अनुसार, मोतीनगर थाना क्षेत्र के बम्होरी रेगुआ गांव में गुरुवार सुबह मनोज पटेल और उसकी पत्नी पूनम पटेल ने अपनी दो बेटियों- जिया (6 माह) और सोनम (10 साल) को जहरीला पदार्थ खिलाने के बाद खुद भी खा लिया.

इस घटना की जानकारी मिलते ही नगर पुलिस अधीक्षक आर.डी. भारद्वाज, थाना प्रभारी संगीता सिंह और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची. सभी को गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया. उपचार के दौरान पूनम और उसकी दो बेटियों की मौत हो गई. वहीं मनोज जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है.
पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने संवाददाताओं को बताया कि यह आत्महत्या का मामला है. मनोज की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी. घटना के कारणों की जांच कराई जा रही है. आत्महत्या में जहर खाया या फांसी लगाई? यह पूछे जाने पर एसपी ने कहा कि मृतकों के गले पर फांसी के निशान भी हैं. पोस्टमार्टम और अन्य साक्ष्यों की पड़ताल के बाद ही यह स्पष्ट हो सकेगा कि इन्होंने जहर खाया या फांसी लगाई.