शिखर धवन की अर्धशतकीय पारी के बावजूद दिल्ली को मंगलवार को यहां विजय हजारे ट्राफी के ग्रुप बी मैच में उत्तर प्रदेश से पांच विकेट से हार का मुंह देखना पड़ा। सीमित ओवरों में भारतीय पारी का आगाज करने वाले धवन ने 74 गेंद में 54 रन की पारी खेली जिनके बाद छठे नंबर के बल्लेबाज हिम्मत सिंह ने 77 गेंद में 64 रन बनाकर दिल्ली को 50 ओवर में आठ विकेट पर 204 रन बनाने में मदद की।

उत्तर प्रदेश ने खराब शुरूआत से उबरते हुए 29 ओवर में पांच विकेट पर 207 रन बनाकर जीत हासिल की। प्रियम गर्ग ने 52 गेंद में 79 और उपेंद्र यादव ने 62 गेंद में 57 रन बनाये। उत्तर प्रदेश के गेंदबाजों में मोहसिन खान ने तीन विकेट जबकि अंकित राजपूत ने दो विकेट प्राप्त किये। एक अन्य मैच में विदर्भ ने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के बूते हरियाणा पर नौ विकेट से जीत हासिल की। विदर्भ के लिये दर्शन नलकंडे ने 25 रन देकर चार विकेट झटके। 

कप्तान अमित मिश्रा का टास जीतकर बल्लेबाजी का फैसला उलटा पड़ गया और हरियाणा की टीम 30.5 ओवर में 83 रन पर सिमट गयी। जितेश शर्मा (11) का विकेट गंवाने के बाद सलामी बल्लेबाज फैज फजल (38) और कप्तान वसीम जाफर (32) ने 66 रन की साझेदारी की जिससे विदर्भ ने 20.4 ओवर में एक विकेट पर 85 रन बनाकर जीत हासिल की।

हिमाचल प्रदेश 25 रनों से जीता
हिमाचल प्रदेश ने यहां खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के राउंड-2 के एलीट ग्रुप-ए और बी मैच में मंगलवार को पंजाब को 25 रनों से हरा दिया। हिमाचल प्रदेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट पर 243 रन का स्कोर बनाया और फिर उसने पंजाब को 49 ओवर में 218 रन पर ऑल आउट कर दिया। हिमाचल प्रदेश की ओर से निखिल गंगटा ने 40, आयुष जामवाल ने नाबाद 39, अंकित कल्सी ने 35 और प्रियांशु खंडुरी ने 29 रनों का योगदान दिया। 

पंजाब के लिए कर्ण कालिया ने तीन और सिद्धार्थ कौल तथा संदीप शर्मा ने दो-दो विकेट लिए। पंजाब के लिए रमनदीप सिंह ने 62, अलमरेज मल्होत्रा ने 36, गुरकीरत सिंह मान ने 32 और अनमोलप्रीत सिंह ने 25 रन बनाए। हिमाचल प्रदेश की तरफ से पंकज जयसवाल ने तीन और कुंवर अभिनय सिंह तथा आयुष जयसवाल ने दो-दो विकेट चटकाए।

केरल की जीत में चमके विनोद
विष्णु विनोद (123) के शानदार शतक की मदद से केरल ने यहां विजय हजारे ट्रॉफी के राउंड-2 के एलीट ग्रुप-ए और बी मैच में मंगलवार को छत्तीसगढ़ को 65 रनों से करारी शिकस्त दी। केरल ने पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट पर 296 रन का मजबूत स्कोर बनाया और फिर उसने छत्तीसगढ़ को 46 ओवर में 231 रन पर ऑल आउट कर दिया। छत्तीसगढ़ के लिए आशुतोष सिंह ने 77, जीवनजोत सिंह ने 56 और कप्तान हरप्रीत सिंह ने 26 रनों का योगदान दिया। केरल के लिए निद्धेश ने चार और संदीव वॉरियर तथा आसिफ ने तीन-तीन विकेट लिए।

इससे पहले ने नौ विकेट पर 296 रन को विशाल स्कोर बनाया। टीम के लिए विनोद ने 91 गेंदों पर पांच चौके और 11 छक्के लगाए। उनके अलावा मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 56 और सचिन बेबी ने 34 रनों की पारी खेली। छत्तीसगढ़ की तरफ से वीर प्रताप सिंह ने तीन और सुमित रुइकर ने दो विकेट अपने नाम किया।

पुडुचेरी ने सिक्किम को 10 विकेट से रौंदा
तेज गेंदबाज ए. राजीव (37 रन पर छह विकेट) की करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी से पुडुचेरी ने विजय हजारे एकदिवसीय ट्राफी के प्लेट ग्रुप के मुकाबले में मंगलवार को यहां सिक्किम को 10 विकेट से हराकर शीर्ष पर अपनी जगह मजबूत की। राजीव को बायें हाथ के स्पिनर सागर उदेशी का भी साथ मिला जिन्होंने महत सात रन खर्चकर तीन विकेट लिये। सिक्किम की टीम 36.3 ओवर में 112 रन पर आउट हो गयी।

पुडुचेरी के सलामी बल्लेबाज पारस डोगरा और अरूण कार्तिक ने महज 11.4 ओवर में इस लक्ष्य को हासिल कर लिया। डोगरा ज्यादा आक्रामक रहे जिन्होंने 41 गेंद की नाबाद पारी में 10 चौके और दो छक्के की मदद से 70 रन बनाये जबकि कार्तिक 29 गेंद में 41 रन पर नाबाद रहे। पुडुचेरी की टीम छह मैचों में चार जीत के साथ 20 अंक लेकर ग्रुप की तालिका में शीर्ष पर है।

ग्रुप के दूसरे मुकबाले में उत्तराखंड ने नगालैंड को सात विकेट से हराया जिससे टीम 18 अंक के साथ तालिका में दूसरे पायदान पर है। प्लेट ग्रुप से सिर्फ एक टीम क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई करेगी। स्टुअर्ट बिन्नी (107) की शतकीय पारी के बाद भी नगालैंड की टीम 44.5 ओवर में 174 रन पर आउट हो गयी। बिन्नी ने 108 गेंद की पारी में सात चौके और इतने ही छक्के लगाये। उन्हें हालांकि दूसरे छोर से कोई साथ नहीं मिला। अवनीश सुधा और तन्मय श्रीवास्तव ने तीसरे विकेट के लिए 122 रन की साझेदारी कर उत्तराखंड को 36.2 ओवर में जीत दिला दी। अवनीश ने 71 गेंद में पांच चौके और तीन छक्कों की मदद से 77 रन बनाये जबकि तन्मय ने 97 गेंद की नाबाद पारी में 54 रन बनाये।
 
मुंबई ने गोवा को 130 रनों से करारी शिकस्त दी
यशस्वी जायसवाल के 113 रनों की दमदार पारी की बदौलत मुंबई ने यहां खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के ग्रुप-ए के मैच में गोवा को 130 रनों से करारी शिकस्त दी।
जायसवाल के अलावा, सलामी बल्लेबाज आदित्य तारे ने 86 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई ने निर्धारित 50 ओवर में चार विकेट खोकर कुल 362 रन बनाए। मुंबई के लिए सलामी बल्लेबाज जायसवाल और तारे ने पहले विकेट के लिए 152 रनों की बड़ी साझेदारी की।

इसके बाद, कप्तान श्रेयस अय्यर के 47 और सिद्धेश लाड के 34 रनों की बदौलत मुंबई बड़े स्कोर की ओर अग्रसर हुई। सूर्यकुमार यादव ने नाबाद 34 और शिवम दुबे ने नाबाद 33 रन बनाते हुए अपनी टीम के स्कोर को 350 के पार कर दिया। जवाब में गोवा की शुरुआत खराब हुई और उसने 13 रन पर ही अपना पहला विकेट खो दिया। मध्यक्रम में स्नेहल कौथांकर ने जरूर अर्धशतक लगाया, लेकिन वह टीम को जीत के आसपास भी नहीं ले जा पाए। गोवा की पूरी टीम 48.1 ओवर में 232 रनों पर सिमट गई। मुंबई के लिए सबसे अधिक विकेट शम्स मुलानी (3) ने चटकाए।

हरियाणा 83 पर ढेर, विदर्भ 9 विकेट से जीता
हरियाणा की टीम एक बार फिर निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए विजय हजारे ट्रॉफी ग्रुप ए और बी मुकाबले में विदर्भ के खिलाफ मात्र 83 रन पर ढेर हो गयी और विदर्भ ने मंगलवार को यह मुकाबला नौ विकेट से जीत लिया। हरियाणा की टीम अपने पिछले मुकाबले पंजाब के खिलाफ मात्र 49 रन पर ढेर हो गयी थी और इस बार उसकी बोरिया बिस्तर 83 रन पर बंध गया। हरियाणा की तरफ से कप्तान अमित मिश्रा ने 44 गेंदों में पांच चौकों की मदद से सवार्िधक 26 रन और 10वें नंबर के बल्लेबाज युजवेंद्र चहल ने 59 गेंदों में दो चौकों के सहारे 20 रन बनाये। हिमांशु राणा 14 रन बनाकर दहाई की संख्या में पहुंचने वाले तीसरे बल्लेबाज रहे। विदर्भ की तरफ से दर्शन नालकंडे ने 25 रन देकर चार विकेट झटके।

विदर्भ ने 20.4 ओवर में एक विकेट पर 85 रन बनाकर मैच जीत लिया। फैज फज़ल ने नाबाद 38 और कप्तान वसीम जाफर ने नाबाद 32 रन बनाये। विदर्भ की छह मैचों में यह पहली जीत है और उसके 10 अंक हो गए हैं। हरियाणा की छह मैचों में यह दूसरी हार है और उसके 12 अंक हैं।