मुंबई,महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने संयुक्त घोषणापत्र जारी किया है. विधानसभा चुनाव में एक ओर कांग्रेस-एनसीपी का गठबंधन है तो दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) व शिवसेना मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. गठबंधन के तहत कांग्रेस और एनसीपी के खाते में 125-125 सीटें आई हैं. राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे.

घोषणा पत्र में कांग्रेस और एनसीपी का दावा है कि महाराष्ट्र में उनकी सरकार बनने के बाद हर एक वादे पर अमल किया जाएगा ताकि प्रदेश फिर अपने पुराने सुनहरे दिन की ओर लौट सके. घोषणा पत्र में कहा गया है कि योग्य छात्रों को विदेश में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप शुरू की जाएगी. हर जिले में सरकारी इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज शुरू करने का वादा किया गया है.

कांग्रेस-एनसीपी ने अपने घोषणा पत्र को शपथनामा नाम दिया है. इसमें कहा गया है कि पूरे प्रदेश में शिक्षक पद की रिक्तियों को तुरंत भरा जाएगा. बदलते समय की जरूरतों को देखते हुए स्कूलों के मौजूदा करिकुलम में बदलाव की बात कही गई है. कामगारों की वेतन में इजाफे का वादा किया गया है. शपथनामे में कहा गया है कि कांग्रेस-एनसीपी की सरकार में शिक्षण, आरोग्य, कृषि, मूलभूत सुविधाओं को क्षेत्र में बड़े बड़े काम किए जाएंगे.