सुकमा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सुकमा (Sukma) जिले के घोर नक्सल (Naxal) प्रभावित किस्टाराम के पालोड़ी में सीआरपीएफ (CRPF) कैम्प में नक्सलियों द्वारा ड्रोन से जासूसी करने की आशंका है. बीते तीन रातों में सीआरपीएफ (CRPF) कैंप में ऊपर से एक अज्ञात रोशनी दिखाई दे रही है, जिसके चलते सुरक्षा एजेंसी सक्ते में आ गई है. आशंका जताई जा रही है कि नक्सली ड्रोन (Drone) के जरिये कैम्प की जानकारी लेने की साजिश कर रहे हैं. ड्रोन की लाइट ही वो रोशनी है, जो दिखाई दे रही है. हालांकि इसको लेकर अब तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.

दरअसल पिछली तीन रातों से सुकमा (Sukma) जिले के किस्टाराम इलाके के पालोड़ी कैम्प के ऊपर अज्ञात रोशनी (Light) दिखाई दे रही है. सुरक्षा बल के जवान रोशनी को लगातार देख रहे हैं, लेकिन ये पता नहीं लगा पाए हैं कि रोशनी आखिर कहां से आ रही है. हालांकि इसको लेकर सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं और खबर है कि पूरे मामले की पतासाजी की कवायद की जा रही है.

ड्रोन कैमरे की है रोशनी!

सुरक्षा एजेंसी से सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से रोशनी दिखाई पड़ रही है, ऐसा माना जा रहा है कि रोशनी ड्रोन कैमरे की है, पर इसकी पुष्टी नहीं हो पाई है. इस रोशनी को लेकर आशंका जताई जा रही है कि नक्सलियों ने भी तो ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल शुरू नहीं कर दिया है. बता दें कि सुकमा जिले के किस्टाराम थाना क्षेत्र का पालोड़ी का इलाक़ा नक्सलियों की बटालियन नम्बर एक सबसे अधिक प्रभाव वाला क्षेत्र है और उस इलाके मे शीर्ष नक्सली कमांडर हिड़मा का भी कई बार लोकेशन सुरक्षाबलों को मिलता रहा है. ऐसे में नक्सलियों के इस प्रभाव वाले इलाके में आम लोगों द्वारा तो खिलौने की तरह ड्रोन का इस्तेमाल करना सम्भव नहीं बताया जा रहा है.