बीजापुर  छत्तीसगढ़  के बीजापुर  में सत्ताधारी दल कांग्रेस के एक कद्दावर नेता की कंस्ट्रशन कंपनी पर घटिया सड़क निर्माण करवाए जाने का आरोप लगा है. पीडब्ल्यूडी द्वारा 7 करोड़ रुपये की लागत से कुटरू से करकेली तक पुख्ता सुरक्षा इंतजाम के बीच 10 किलोमीटर तक सड़क निर्माण कार्य करवाया जा रहा है. निर्माण के 4 महीने बाद ही 4.2 किलोमीटर की पक्की सड़क बन चुकी है. इस सड़क के निर्माण के कुछ महीने में ही बड़े बड़े 63 गड्ढे हो चुके हैं.

बीजापुर के कुटरू से करकेली तक सड़क निर्माण का ठेका दिग्गज कांग्रेसी नेता जयकुमार नायर की कंस्ट्रशन कंपनी शिव शक्ति कंस्ट्रशन कंपनी को मिला है. सड़क निर्माण में मजदूरों की सुरक्षा के लिए सुरक्षाबल के जवान तैनात रहते हैं. जवानों के समर्पण और त्याग पर भ्रष्टाचार  पर भारी पड़ रहा है. निर्माण के 4 महीने बाद ही सड़क उखड़ने लगी है. कुटरू से करकेली को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए रूरल रोड प्रोजेक्ट के तहत 7 करोड़ 9 लाख रुपये से पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा 10 किलोमीटर के सड़क का निर्माण कार्य करवाया जा रहा है.

फरवरी से शुरू हुआ निर्माण

फरवरी 2019 में इस सड़क का निर्माण कार्य शुरू हुआ. जून 2019 तक 4.2 किलोमीटर की सड़क पर डामर भी बिछा दिया गया. मगर यह सड़क कमीशनखोरी और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया. निर्माण के 4 माह बाद ही सड़क में बिछाया गया डामर जगह जगह से उखड़ने लगा. इतना ही नहीं बल्कि पुल-पुलिये और कल्वर्ट के पास बड़े बड़े गड्ढे हो चुके हैं. इन गड्ढों को ग्रामीणों द्वारा गिट्टी से भरा गया है. निर्माण में गुणवत्ता के साथ किये गये समझौता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सडक के साइड सोल्डर को एक छोटा सा बरसाती नाला अपने साथ बहा ले गया.

ग्रामीण कर चुके हैं शिकायत

ग्रामीणों ने इस सड़क के निर्माण में बरती जा रही लापरवाही के संबंध में कईयों दफे जिम्मेदारों से शिकायत की है. क्षेत्र के सरपंच टोक्काराम वाचम व रामू पुंगटी का कहना है कि मामले में जिम्मेदारों से कई बार शिकायत की गई है, लेकिन ठेकेदार के राजनैतिक रसूख के आगे जिम्मेदार बेबस नजर आ रहे हैं. इस इलाके में नक्सलियों की अच्छी खासी दखल है. ऐसे में सुरक्षा के लिहाज से इस सड़क निर्माण के लिए जवान चौकन्ना रहते हैं.

जांच कराएंगे कलेक्टर
इस सड़क के सब इंजीनियर दानेश्वर देवांगन ने बताया कि सड़क निर्माण कार्य प्रगति पर है, जहां जहां गड्ढे हुए या डामर उखड़ चुका है. उसे सुधार लिया जायेगा. साथ ही जिले के कलेक्टर केडी कुंजाम ने कहा है कि वे खुद मौके पर जाकर सडक निर्माण कार्य की गुणवत्ता देखेंगे. यदि गुणवत्ता के साथ समझौता किया जा रहा है तो जिम्मेदारों पर कार्रवाई की भी बात कलेक्टर द्वारा कही जा रही है.