मुंबई बॉलीवुड अभिनेत्री काजोल देवी दुर्गा की एक बहुत बड़ी भक्त हैं, लेकिन काजोल किसी भी देवी/देवता से कुछ मांगने में यकीन नहीं रखतीं। काजोल का कहना है कि ईश्वर ने उन्हें जो कुछ भी दिया है वह उनके लिए काफी है। काजोल ने मुंबई में शुक्रवार को नॉर्थ बॉम्बे सार्बोजानीन दुर्गा पूजा में मीडिया से बात की जहां वह अपनी मां तनुजा और बहन तनीषा मुखर्जी के साथ देवी मां का आशीर्वाद लेने के लिए आई थीं।

नॉर्थ बॉम्बे सार्बोजानीन दुर्गा पूजा को मुंबई में सबसे पुराने दुर्गा पूजा पंडालों में से एक माना जाता है। यहां पिछले 71 सालों से दुर्गा पूजा का आयोजन किया जाता रहा है।

बप्पी लाहिड़ी, काजोल, रानी मुखर्जी और अयान मुखर्जी ऐसे ही कुछ और बॉलीवुड सेलेब्रिटीज हैं जो नॉर्थ बॉम्बे सार्बोजोनीन दुर्गा पूजा चैरिटेबल ट्रस्ट के सक्रिय सदस्य हैं।

दुर्गा पूजा में भाग लेने के अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए काजोल ने कहा, "हम सभी मां दुर्गा के बहुत बड़े भक्त हैं और हम जोश व जुनून के साथ नवरात्रि का यह त्यौहार मनाते हैं। हम इस त्यौहार को मनाने के दौरान बहुत मौज-मस्ती करते हैं और इन नौ दिनों में हम लगन से मां की सेवा करते हैं।"

अपनी दुआओं में वह ईश्वर से क्या मांगती हैं? इसके जवाब में बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा, "मैंने मां दुर्गा से कभी कुछ नहीं मांगा। जब भी मैं किसी मंदिर में जाती हूं या ईश्वर की आराधना करती हूं तो मैं मानती हूं कि किसी भी चीज को मांगने से भी ज्यादा जरूरी यह है कि उन्होंने हमें जो कुछ भी दिया है, उसके प्रति हम आभारी रहें।"

काजोल की मां तनुजा ने कहा, "मेरा ऐसा मानना है कि हमारे देश की परंपराएं बहुत ज्यादा मायने रखती हैं और अगर हम उनका पालन ही न करें तो भारतीय होने का क्या फायदा है? मां दुर्गा हम सभी की मां हैं। मेरी सास ने मुझे समझाया था कि लोगों के बीच में प्यार बांटना सबसे जरूरी बात है। यह त्यौहार हम सभी को एक साथ लाता है। इन नौ दिनों में प्यार का माहौल बना रहता है। कोई किसी के बारे में बुरा नहीं सोचता और न ही कोई किसी से ईष्र्या करता है। हम धर्म या जाति के आधार पर किसी के साथ भी भेदभाव नहीं करते। हर किसी का यहां दिल से स्वागत किया जाता है।"