नई दिल्ली: देश के लिए शहीद होने और युद्ध में 60% से ज्यादा विकलांग होने पर जवानों के परिजनों को अब केंद्र सरकार आठ लाख रुपए तक की आर्थिक मदद देगी. रक्षा मंत्रालय (Ministry of defence) ने शनिवार को आर्थिक मदद (Monetary Assistance) चार गुना बढ़ाने का ऐलान किया. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने प्रस्ताव को मंजूरी दी. इससे पहले दो लाख रुपए तक की मदद मिलती थी.

शहीदों के परिजनों को सेना युद्ध शहीद कल्याण निधि (एबीसीडब्लूएफ) के तहत 8 लाख रुपए दिए जाएंगे. यह मदद पेंशन, सामूहिक बीमा योजना, सेना कल्याण निधि और अनुग्रह राशि के अतिरिक्त दी जाएगी. रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया, "रक्षा मंत्री ने युद्ध हताहतों की सभी श्रेणी के परिवारों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 8 लाख रुपये करने को सैद्धांतिक स्वीकृति दी."

फरवरी 2016 में सियाचिन में 10 जवानों की शहादत के बाद भूतपूर्व सैनिक कल्याण विभाग (ईएसडब्ल्यू) ने एबीसीडब्लूएफ का गठन किया था. एबीसीडब्लूएफ की स्थापना जुलाई 2017 में की गई थी लेकिन इसे अप्रैल 2016 से ही लागू कर दिया गया था.