तांबा एक प्रकार का माइक्रोन्यूट्रिएंट है। यह शरीर में मिनरल्स और जरूरी पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। तांबे के बर्तन में पानी पीने से रोग प्रतिरोधी सिस्टम मजबूत होता है, हाजमा बेहतर होता है। साथ ही कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव भी होता है। तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीने से शरीर को ठंडक भी मिलती है। तांबे के बर्तन में पानी रखने से पानी में मौजूद सभी प्रकार के बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। इसके लिए रातभर तांबे के बर्तन में पानी भरकर रख दें। सुबह उठकर पी लें। ऐसा करने से शरीर में मौजूद टॉक्सिंस न्यूट्रलाइज हो जाते हैं।
तांबे के बर्तन में पानी पीने के लाभ
संक्रमण होता है समाप्त : 
विशेषज्ञों के अनुसार तांबे के बर्तन में पानी पीने से पेट का संक्रमण समाप्त होता है। पाचनतंत्र बेहतर होता है। साथ ही लिवर और किडनी बेहतर तरीके से काम करती है। 
लंबे समय तक जवां बनाए रखता है : 
आप अगर अपने चेहरे पर पड़ रही झुर्रियों से परेशान हैं तो तांबे के बर्तन में पानी पीना शुरू कर दें।  तांबे में भारी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं, जो त्वचा को जवां बनाए रखने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें झुर्रियों के लिए जिम्मेदार फ्री रेडिकल्स को नष्ट करने की क्षमता भी होती है।
दिल की बीमारी से बचाव करता है : 
आजकल अधिकतर लोग दिल की बीमारी से जूझ रहे हैं। ऐसे में तांबे के बर्तन में पानी पीना बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। तांबे के बर्तन में पानी पीने से दिल की बीमारी होने का खतरा काफी कम हो जाता है। तांबे के बर्तन में पानी पीने से ब्लड प्रेशर नॉर्मल रहता है, साथ ही शरीर में बेड कोलेस्ट्रोल का स्तर भी कम होता है।
वजन कम करने में मददगार:
तांबे के बर्तन में पानी पीकर प्राकृति तरीके से भी वजन कम किया जा सकता है।
कैंसर के खतरे को कम करता है :
तेजी से बढ़ रही कैंसर की बीमारी का खतरा भी तांबे के बर्तन में पानी पीकर कम किया जा सकता है। तांबे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स गुण शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स के असर को न्यू्ट्रलाइज करते हैं, जो कैंसर का एक मुख्य कारण माना जाता है।