सुबह का नाश्ता बेहद जरूरी है, यह बात आप कई बार पढ़ चुके होंगे। बीते दिनों हुए एक अध्ययन के अनुसार परिवार अगर साथ में बैठकर खाना खाता है तो इसका सकारात्मक असर बच्चों और किशोरों पर पड़ता है।
शोधकर्ताओं के अनुसार किशोर अपने लुक्स को लेकर सोशल मीडिया के दवाब में रहते हैं। इसके चलते वे कई बार खाने-पीने से जुड़े गलत फैसले लेते हैं और उन्हें ईटिंग डिसॉर्डर जैसी समस्याएं हो जाती हैं। अध्ययनकर्ताओं ने 12,642 छात्रा पर अध्यान किया जिसके बाद ये परिणाम आये। 
जो बच्चे नियमित रुप से अपने अभिभावकों के साथ नाश्ता करते थे वे अपनी बॉडी इमेज को लेकर सकारात्मक हैं। सिर्फ ब्रेकफस्ट ही नहीं परिवार के साथ खाना खाने के भी परिणाम सकारात्मक आए हैं। 
बच्चों के लिए सेहतमंद नाश्ता बनाना हमेशा एक कठिन काम रहता है और उससे भी ज्यादा मुश्किल होता है बच्चों में सेहतमंद खाने की आदत डालनार। ऐसे में जरूरी होता है कि आप बच्चे के लिए जो ब्रेकफस्ट बना रही हैं वो हेल्दी के साथ-साथ टेस्टी भी हो ताकि आपका बच्चा उसे खाने से आना-कानी न करे बल्कि उसे पूरे चाव से खा ले। इतना ही नहीं, बच्चे में हेल्दी ब्रेकफस्ट से जुड़ी आदतें विकसित करने के लिए कुछ जरूरी नियमों का भी पालन किया जाना चाहिए। 
जैसे वह उस समय अन्य काम न करे। 
टीवी, मोबाइल न देखे।