नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार झेलने के सदमे से उबरने में लगी कांग्रेस पार्टी के चंदे में पिछले साल के मुकाबले में बढ़ोतरी देखने को मिली है. चुनाव आयोग को दी जानकारी के मुताबिक चुनावी साल (2018-19) में कांग्रेस को पिछले साल (2017-18) के मुकाबले ज्यादा अनुदान (चंदा) मिला है. 2017-18 के मुकाबले 2018-19 में कांग्रेस के चुनावी चंदे में 5 गुणा की बढोतरी देखने को मिली है. 

2017-18 के 26 करोड़ के मुकाबले 2018-19 में कांग्रेस को 146 करोड़ रुपए चंदे के रूप में मिले हैं. कांग्रेस ने 57 पन्नों की अनुदान रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजी है. 


हालांकि बीजेपी के मुकाबले कांग्रेस अभी भी काफी पीछे. बीजेपी ने अब तक 2018-19 की रिपोर्ट आयोग को नहीं सौंपी है लेकिन 2017-18 (पिछले साल) बीजेपी को 1027 करोड रुपए चंदे में मिले थे. कांग्रेस को पार्टी नेताओं ने भी चंदा दिया जिसमें सोनिया गांधी, राहुल गांधी, कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी, सुष्मिता देव, दिग्विजय सिंह, कुमारी शैलजा से लेकर कई नेताओं ने चंदा दिया.

सोनिया, राहुल, दिग्विजय सिंह ने 54,000, सिब्बल ने 1,00,000 लाख, सुष्मिता देव ने 2,00,000 लाख रुपये का चंदा दिया है. कांग्रेस के 146 करोड के चंदे में सबसे अधिक 55 करोड रुपये दि प्रगोग्रेसिव इलेक्ट्रोल ट्रस्ट ने दिए है. ये सारे चंदे 20,000 रुपये से ऊपर के हैं.