मुंबई । हाल ही में रिलीज हुई फिल्म 'सेक्शन 375' में दुष्कर्म पीड़िता का किरदार निभा रही अभिनेत्री मीरा चोपड़ा ने कहा कि कई बार हम कानून का दुरुपयोग करते हैं, जो कि चीज वास्तविक तौर पर पीड़ित लोगों के साथ अन्याय करती है। उन्होंने बताया कि फिल्म में दुष्कर्म पीड़िता के किरदार की तैयारी के लिए कई दुष्कर्म पीड़िताओं से भी मुलाकात की। मीरा ने कहा कि, " दुष्कर्म पीड़िता का किरदार निभाना मेरे लिए आंख खोलने जैसा था, क्योंकि मुझे उस वास्तविकता का परिचय कराना था, जिसके बारे में मुझे खुद कुछ नहीं पता था। अक्सर दुष्कर्म के मामले में पीड़िता के असहज प्रश्न पूछे जाने के चलते पुलिस स्टेशन नहीं जाती। वे (पुलिस) यह सोचते हैं कि लड़की झूठ बोल रही है।" अभिनेत्री के अनुसार, अनुच्छेद 375 महिलाओं के अधिकारों का संरक्षण करता है, लेकिन कई शोध में यह पाया गया है कि इस कानून का दुरुपयोग भी किया जाता है।  इस पर अभिनेत्री ने कहा, "यही कारण है कि एक महिला के लिए दुष्कर्म के मामले की रिपोर्ट करना मुश्किल हो जाता है। अधिकारियों को लगता है कि यह एक फर्जी मामला है, क्योंकि ऐसी चीजें अतीत में हुई हैं। दुष्कर्म की भयावह घटना होने के बाद वास्तविक पीड़ित असहज सवालों का जवाब देने में घबराहट महसूस करती है और अंत में, न्याय से वंचित हो जाती है। कानून का उपयोग करने की हमारे पास नैतिक जिम्मेदारी होनी चाहिए।"