गुजरात के भरूच में नर्मदा नदी उफान पर है. सितंबर के महीने में हो रही लगातार बारिश से भरूच शहर डूब गया है. यहां पर सड़कों पर इतना पानी भरा है कि आवाजाही के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक लगातार बारिश की वजह से सरदार सरोवर बांध से पानी छोड़ा जा रहा है जिस वजह से नर्मदा का जलस्तर बढ़ गया है.
गुजरात के भरूच में नर्मदा नदी उफान पर है. सितंबर के महीने में हो रही लगातार बारिश से भरूच शहर डूब गया है. यहां पर सड़कों पर इतना पानी भरा है कि आवाजाही के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है. लगातार बारिश की वजह से सरदार सरोवर बांध से पानी छोड़ा जा रहा है जिस वजह से नर्मदा का जलस्तर बढ़ गया है.

भरूच के कलेक्टर एमडी मोडिया ने कहा कि अबतक 23 गांवों के 4000 लोग बचाए गए हैं. इस वक्त नर्मदा नदी 31.85 मीटर के जलस्तर पर बह रही है, जो कि खतरे के स्तर से काफी ऊपर है. कलेक्टर मोडिया ने कहा कि एनडीआरएफ की 2 और एसडीआरएफ की 1 टीम को अलर्ट पर रखा गया है.

कलेक्टर एमडी मोडिया ने कहा, "करीब 23 गांव बाढ़ के पानी से प्रभावित हैं." सरदार सरोवर नर्मदा निगम लिमिटेड के नियंत्रण कक्ष के मुताबिक इस बड़े बांध के 30 में से 23 फाटक खोले जाने के बाद नदी में 6.42 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. बांध का जलस्तर 136.50 मीटर पहुंच गया जो इसकी अधिकतम सीमा 138 मीटर से मात्र डेढ़ मीटर कम है.
बता दें कि गुजरात में मंगलवार को भी बारिश का दौर जारी रहा और मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में अगले दो दिनों तक भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है. गुजरात में इस साल 109.99 फीसदी बारिश हो चुकी है. राज्य के 33 में से 22 जिलों में 100 फीसद बारिश हो चुकी है. बता दें कि इस वक्त गुजरात महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश मॉनसून की बारिश की चपेट में है. एमपी में भी बारिश ने तबाही मचाई है. एमपी की राजधानी भोपाल में भारी बारिश की वजह से कोनार डैम को खोलना पड़ा है.