भोपाल. भोपाल (OLD BHOPAL) के पुराने शहर इलाके में दो मंज़िला मकान ढह गया है. उसके मलबे में कई स्कूटर दब गए. बताया जा रहा है ये मकान भोपाल के आख़िरी नवाब के खजांची का था. मकान बहुत जर्जर हालत में था. आसपास के लोग इसे ढहाने के लिए कई बार नगर-निगम में शिकायत कर चुके थे.
जान का नुक़सान नहीं
पुराने भोपाल के चौक बाज़ार में एक पुराना जर्जर मकान ढह गया. ये वाकया मारवाड़ी रोड पर हुआ जो काफी भीड़ भरा इळाका है. यहां के तापड़िया बिल्डिंग में ये दो मंज़िला मकान था. गनीमत रही कि इसके मलबे में कोई इंसान नहीं आया. लेकिन मकान का मलबा गिरने से उसकी चपेट में वहां खड़ी कई गाड़ियां और दुकान आ गए.
खजांची का मकान
बताया जा रहा है जो मकान ढहा वो भोपाल के आख़िरी नवाब हमीदुल्ला खां के कैशियर का था. वो काफी जर्जर हालत में था. इलाके के लोगों को इसके ढहने का डर था, इसलिए वो कई बार नगर निगम में शिकायत कर चुके थे. लोग इस मकान को ढहाने के लिए बार-बार कह रहे थे. लेकिन नगर निगम ने कार्रवाई नहीं की. हालांकि बताया जा रहा कि नगर निगम ने इसे ख़तरनाक मकान घोषित कर अपनी लिस्ट में डाल रखा था. भोपाल में लगातार हो रही बारिश ये मकान नहीं सह पाया और ताश के पत्तों की तरह ढह गया.