बिलासपुर । बोर्ड स्तरीय यात्री सेवा समिति के अध्यक्ष  रमेश चंद्र रत्न एवं सदस्य श्रीमती पूजा विधानी द्वारा बिलासपुर एवं उसलापुर स्टेशन का निरीक्षण कर उपलव्ध यात्री सुविधाओं का जायजा लिया गया।
उसलापुर स्टेशन में निरीक्षण के दौरान इन्होंने यात्री सुविधाओं के अंतर्गत स्टेशन परिक्षेत्र, सभी प्लेटफार्म, केटरिंग स्टॉल, यात्री प्रतिक्षालय, फुटओवर ब्रिज, प्रसाधन, पेयजल व्यवस्था, वाटरबूथ, प्लेटफार्म में यात्रियों के लिए बैठने की व्यवस्था के साथ ही साथ पूरे स्टेशन परिसर में उपलब्ध यात्री सुविधाओं एवं सफाई व्यवस्था का बारीकी से निरीक्षण किया। प्लेटफार्म 01 के वाटरबूथ के पानी का टीडीएस चेक कर उन्हें दिखाया गया जो कि मापदंड के अनुरूप पाया गया। खानपान स्टॉल में निरीक्षण के दौरान उन्होंने कर्मचारियों के परिचय-पत्र, मेडिकल प्रमाण-पत्र आदि की जॉच की। खानपान स्टॉल संचालकों को बिल देने का निर्देश दिये। साथ ही स्टेशन व रेल गाडिय़ों में साफ-सफाई बनाये रखने एवं प्लेटफॉर्म का नियमित मरम्मत एवं आवश्यकतानुसार सरफेस को समतल करने का निर्देश भी उन्होंने दिया। उसलापुर स्टेशन में अतिशीघ्र डिस्पले बोर्ड की सुविधा उपलब्ध कराने की बात भी उन्होंने कही। इस दौरान पर्यावरण अनुकूलन हेतु अध्यक्ष एवं सदस्या द्वारा वृृक्षारोपण भी किया गया। इस दौरान यात्रियों से रेलवे द्वारा दी जा रही यात्री सुविधाओं, कर्मचारियों का व्यवहार तथा स्वच्छता के बारे वार्तालाप भी किया। यात्रियों द्वारा स्वच्छता एवं उपलब्ध सुविधाओं की प्रशंसा की गई। इस दौरान अध्यक्ष ने उपस्थित मीडिया के सदस्यों से वार्ता कर रेलवे द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों के संबंध में विस्तारपूर्वक बताया गया। उसलापुर स्टेशन के निरीक्षण पश्चात इन्होंने बिलासपुर स्टेशन का निरीक्षण किया। बिलासपुर स्टेशन में निरीक्षण के दौरान यात्री सुविधाओं के अंतर्गत स्टेशन परिक्षेत्र, ड्राप एंड गो क्षेत्र, प्लेटफार्म, जन-आहार,, केटरिंग स्टॉल, यात्री प्रतिक्षालय, एस्केलेटर, जीआरपी पोस्ट, आरपीएफ पोस्ट, फुटओवर ब्रिज, लिफ्ट तथा रिटायरिंग रूम एवं डॉरमेटरी का बारीकी से निरीक्षण किया गया। प्लेटफार्म में निरीक्षण के दौरान वाटर बूथ में लगे नलों में पानी की स्थिति तथा टीडीएस, जन-आहार के किचन, खानपान सामग्रियों की सफाई, गुणवत्ता, रेट लिस्ट, दस्तावेजों एवं वेंडरों का चिकित्सा प्रमाण पत्र सहित पहचान पत्र की भी जांच की गई। प्लेटफार्म और प्रतिक्षालयों में यात्रियो से सीधा संवाद करते हुए यात्री सुिवधाओ की उपलब्धता के बारे में चर्चा की गई, उनसे फीडबैक के साथ साथ सुझाव भी लिए गए। प्लेटफार्म मेें स्काउट-गाइड के बच्चों द्वारा नुक्क्ड-नाटक के माध्यम से यात्रियों को दी जा रही स्वच्छता जागरूकता संदेश को अच्छी पहल बताया तथा बच्चों का हौसला आफजाई की गई।
स्टेशन में सुरक्षा से जुडे जीआरपी के थाना भवन एवं आरपीएफ थाना में स्थित सीसीटीवी कंट्रोल रूम का भी बारीकी से निरीक्षण किया गया। सीसीटीवी कंट्रोल रूम की व्यवस्थाओं को बेहतर बताया तथा पुरस्कृत भी किया। रिटायरिंग रूम एवं डॉरमेटरी में भी उपलव्ध सुविधाओं का जायजा लिया तथा वहां ठहरे यात्रियों से वार्तालाप कर फीडबेक लिया गया। यात्रियों ने बताया कि यहां किफायती दरों में फाइव स्टार होटल जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। हरिद्वार-पुरी उत्कल एक्सप्रेस के यात्रियों से सुविधाओं एवं स्वच्छता से संबंधित वार्तालाप कर फीडबैक लिया गया। ड्राप एंड गो क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारियों को यात्रियों से निधारित दर में शुल्क लेने तथा दुव्र्यवहार न करने की सख्त हिदायत भी दी गई। यात्रियों के सीधे संपर्क में आने वाले कर्मचारियों को यात्रियों के साथ मधुर व्यवहार करने तथा उनकी मदद करने का आहवान भी उन्होनें किया। इस दौरान अध्यक्ष एवं सदस्या को बिलासपुर एवं उसलापुर स्टेशनों के विकास कार्यों के मॉडल प्लान को भी दिखाया गया। निरीक्षण के दौरान अपर मंडल रेल प्रबंधक  सौरभ बंदोपाध्याय, वरि.मंडल वाणिज्य प्रबंधक  पुलकित सिंघल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा.जी.के.चक्रवती आदि उपस्थित थे।