देहरादून: उत्तराखंड (Uttarakhand) में प्रकृति अपना रूद्र रूप दिखा रही है. गढ़वाल (Garhwal) और कुमायूं (Kumaon) रिजन ने जगह-जगह भारी बारिश और बादल फटने (CloudBurst) की घटना से कई लोगों की जान जा चुकी है. शनिवार को एक बार फिर बादल फटने की घटना सामने आई है. जानकारी के मुताबिक, पिथौरागढ़ (Pithoragarh) और चमोली (Chamoli) में बादल फटा है. 

पिथौरागढ़ के मुनस्यारी ब्‍लॉक के तल्ला जोहार के टिमटिया क्षेत्र में शुक्रवार रात करीब पौने तीन बजे बादल फट गया. जिले के नाचनी क्षेत्र, बंसबगड़ और तिमिटिया में अतिवृष्टि से 3-4 भवन क्षतिग्रस्त हो गए. इस घटना में दो लोगों की मौत और कई लोगों के घायल होने की सूचना है. घटना की जानकारी के एसडीआरएफ की टीम रेस्‍क्‍यू के लिए मौके पर पहुंच गई है. 

दूसरी घटना चमोली से सामने आ रही है. चमोली के गोविंद घाट के पास बादल फटा है. घटना में किसी के मारे जाने की सूचना अभी तक नहीं है, लेकिन यात्रियों की 12 से 15 गाड़ियां मलबे में दबे होने की सूचना है. वहीं, थराली के गुंडम में मवेशियों के दबे होने की सूचना है.
आपको बता दें कि उत्तराखंड के चमोली में बादल फटने की ये तीसरी घटना है. इससे पहले चमोली के घाट क्षेत्र और देवल ब्लॉक के पद्मल्ला और फलदिया गांव में बादल फटने से कई लोगों की मौत हो चुकी है. लगातार बारिश की वजह से उत्तराखंड में भीषण तबाही मची है.