नई दिल्ली: पूरे देश मे आज गणेश स्थापना की जा रही है, लेकिन मुंबई में इस पर्व की छटा बेहद अनोखी होती है. बालगंगाधर तिलक के द्वारा इस पर्व को पुनर्स्थापित किये जाने के बाद अलग-अलग गणपति पंडाल सार्वजनिक तौर पर गणपति की स्थापना करते हैं. इनमे से एक है वडाला के GSB गणपति. इन्हें मुम्बई का सबसे धनवान गणपति भी कहा जाता है. इस बार गणपति पर करीब 68 किलो सोने के और 350 किलो चांदी के आभूषण चढ़ाए गए है.
इस साल गणपति के पंडाल का करीब 266 करोड़ रुपये का इंश्योरेंस करवाया गया है. GSB के गणपति में आज भी दक्षिण भारत के परंपरागत तरीके से पूजा अर्चना की जाती है. इसके साथ ही ऋग्वेद काल की कई रीतियां, जैसे तुला दान भी यहां पर किये जाते हैं. जब किसी भक्त या श्रद्धालु की कोई मन्नत पूरी हो जाती है तो वो अपने वजन के हिसाब के अनाज जैसे आटा या फिर घी, शक्कर, नारियल जैसी चीज तुलवा कर दान करता है.