इन्दौर । नमः शिवाय मिशन ट्रस्ट शिवकोठी, ओंकारेश्वर के संस्थापक एवं एक रोटी बाबाजी के नाम से प्रख्यात स्वामी शिवोहम भारती महाराज अब 16 से 24 सितंबर तक श्राद्ध पक्ष में दिवंगत पितरों के मोक्ष की कामना के साथ मनोरमागंज स्थित गीता भवन के सत्संग सभागृह में प्रतिदिन दोपहर 2 से सांय 6.30 बजे तक शिवपुराण की तत्वमयी कथा सुनाएंगे। आंखों पर पट्टी बांधकर कथा सुनाने वाले वे देश के एकमात्र तपस्वी संत हैं।
आयोजन समिति के प्रमुख महेश गुप्ता, मांगीलाल झंवर एवं मोहन मोदी ने बताया कि स्वामी शिवोहम भारती देश के उन बिरले संतों में से बल्कि इकलौते संत हैं जो आंखों पर पट्टी बांधकर भगवान शिव की कथा का अमृत पान कराते हैं। मॉरिशस, गुजरात के जामनगर, मालवा-निमाड़ के खरगोन, बड़वानी तथा तीर्थराज नैमिषारण्य सहित अनेक शहरों में स्वामीजी अपनी कथा की अमृत वर्षा कर चुके हैं। इसके पूर्व गत 1 से 9 जुलाई तक गीता भवन में ही शिवपुराण कथा का आयोजन रखा गया था लेकिन कथा के चलते 2 जुलाई को अचानक हृदयाघात के कारण संतश्री का स्वास्थ्य बिगड़ गया और उन्हें तत्काल बाम्बे हाॅस्पिटल ले जाया गया था। ईश्वर की कृपा से संतश्री अब पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने संकल्प को पूरा करने के लिए 16 से 24 सितंबर तक शिवपुराण कथा के लिए आ रहे हैं। आयोजन समिति का प्रयास है कि शहर के सभी धर्मप्रेमी नागरिक इस दुर्लभ अवसर का पुण्य लाभ उठाएं। अब तक देश में जहां-जहां भी उनके सान्निध्य में इस तरह के आयोजन हुए हैं, वहां के श्रद्धालु अत्यंत भावविभोर एवं प्रभावित होकर अनेक व्यसनों से मुक्त हो चुके हैं। गीता भवन में हो रहा यह आयोजन भी आम नागरिकों के लिए खुला रहेगा। आज आयोजन समिति की बैठक में त्रिपुरारीलाल शर्मा, राम ऐरन, अरविंद बागड़ी, हरि अग्रवाल, राजेंद्र गर्ग सहित अनेक पदाधिकारी उपस्थित थे जिन्होंने आयोजन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया। स्वामी शिवोहम भारती 15 सितंबर को इंदौर आएंगे।