नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. एक राजनेता और वकील होने के अलावा जेटली का क्रिकेट प्रेम किसी से छिपा नहीं था. वे लंबे समय तक दिल्ली जिला क्रिकेट संघ (DDCA) के अध्यक्ष रहे थे, और उनका हमेशा ही क्रिकेट जगत से गहरा संबंध रहा. उनके जाने से भारतीय क्रिकेट जगत स्तब्ध है. सोशल मीडिया पर हर तरफ से उनके लिए शोक संदेश आ रहे हैं. 


लंबे समय से बीमार चल रहे थे जेटली
 जेटली का गुरुवार को डायलिसिस हुआ था। वे 66 वर्ष के थे. वे यहां एम्स में 9 अगस्त से भर्ती थे और उनका इलाज वरिष्ठ डॉक्टरों की निगरानी में हो रहा था. पिछले दिनों अरुण जेटली को एक्‍स्‍ट्राकारपोरल मेंब्रेन ऑक्‍सीजनेशन (ECMO) और इंट्रा ऐरोटिक बैलून (IABP) सपोर्ट पर रखा गया था. जेटली लगातार 13 साल तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहे थे. वे 1999 से लेकर 2012 तक डीडीसीए तक अध्यक्ष रहे. . उनके कार्यकाल में दिल्ली क्रिकेट कोमें एक विश्व स्तरीय क्रिकेट स्टेडियम, फिरोजशाह कोटला के नवीकरण जैसी सुविधाएं मिली थी. 
भारतीय क्रिकेट के कई दिग्गजों ने सोशल मीडिया पर जेटली के निधन पर श्रद्धांजलि दी हैं. 
पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया है. 
 पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि जेटली का दिल्ली क्रिकेट के लिए अतुल्यनीय योगदान दिया. 
 पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि जेटली का दिल्ली क्रिकेट के लिए अतुल्यनीय योगदान दिया. 
वीवीएस लक्ष्मण ने उनके निधन पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त कीं.
अरुण जेटली के बचपन से क्रिकेट का शौक रहा था. उन्होंने अपनी युवाअवस्था में काफी क्रिकेट खेला भी था, बाद में वे कुशल क्रिकेट प्रशासक साबित हुए.