नई दिल्ली । सर्वाइकल, ओरल और ब्रेस्ट कैंसर से निपटने के लिए देशभर के सरकारी डॉक्टर प्रशिक्षित किए जाएंगे और उनका यह प्रशिक्षण दिल्ली से सटे नोएडा में होगा। ये डॉक्टर अपने-अपने क्षेत्र में जाकर जिला अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्रों में जाकर उक्त तीनों तरह के कैंसर के ्क्रिरनिंग कैंप लगाएंगे। जिससे बीमारी की जल्द पहचान हो और इलाज देकर जानें बचाई जा सकें। सेक्टर-39 स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च (एनआईसीपीआर) देशभर के सरकारी डॉक्टरों को कैंसर ्क्रिरनिंग के लिए प्रशिक्षित करेगा। पायलट प्रोजेक्ट के तहत यह प्रशिक्षण छह राज्यों के डॉक्टरों को दिया जाएगा। इनका ऑनलाइन प्रशिक्षण 11 सितंबर से शुरू होगा। 
- कई राज्यों के डॉक्टर प्रशिक्षित होंगे: 
पायलट प्रोजेक्ट के तहत मध्यप्रदेश, हरियाणा, असम, गुजरात, तमिलनाडु व पश्चिम बंगाल के डॉक्टर प्रशिक्षित होंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने छह राज्यों के अलावा अन्य राज्यों को भी इस प्रशिक्षण से जुड़ने के लिए निर्देशित किया है। वर्तमान में छत्तीसगढ़, बिहार, गोवा एवं त्रिपुरा के 217 डॉक्टरों का ऑनलाइन प्रशिक्षण चल रहा है। कैंसर ्क्रिरनिंग का प्रशिक्षण 14 सप्ताह तक ऑनलाइन होगा।