रांची: झारखंड की राजधानी रांची में नगर निगम की लापरवाही के कारण सफाई व्यवस्था बेपटरी हो गई है. शहर के विभिन्न चौक चौराहों या गली मोहल्ले सभी जगह कचरे की अम्बार लगा हुआ है. 

निगम के द्वारा कचरे का उठाव नहीं होने के कारण लोगों को परेशानी हो रही है. आस पास पड़ोस में रह रहे लोगों को इस गंदगी के कारण बीमारी का खतरा भी मंडरा रहा है.राजधानी रांची में आधी आबादी के बीच नगर निगम शहर के सभी 53 वार्डों में कचरा उठाने का जिम्मा दिया गया है. 
लेकिन बरसात में नाली की स्थिति और मोहल्ले में कचरे का अम्बर पड़ी हुई है और जिसका खामियाजा मोहल्ले वासियों को उठाना पड़ रहा है. निगम की इस सुस्ती के कारण बरसात के मौसम में पानी का जल जमाव कचरे गंदगी कि अंबार से कई तरह की बीमारी भी फैल सकती है.
वहीं, लोगों का कहना है कि मोहल्ले में नाले में पूरी तरह से कचरे भरा हुआ है लेकिन निगम के कोई अधिकारियों से देखने तक नहीं आते हैं जिसका खामियाजा आधी आबादी को उठाना पड़ रहा है. आस पास से गुज़रना भी मुश्किल है. कई बार शिकायत किया लेकिन महीने महीने बीत जाने के बाद भी उठाव नहीं हुआ. 

वहीं, नगर विकास मंत्री सीपी सिंह का कहना है नाली का पानी और नाली में जो कचरे लोग फेकते हैं वही जमा हो जाते हैं. ऐसा कचरा एकत्रित किया जाता है. नगर निगम सफाई भी करती है लेकिन लोग कचरे रोड और नाली में फेंक देते हैं. लोगों को भी जागरूक होना होगा. घर-घर से कचरा उठाना का काम कंपनी को दिया गया था. कुछ दिन अच्छा काम हुआ था लेकिन अब नगर निगम के माध्यम से हो रहा है. लेकिन घर घर जाकर कचरा उठाना नहीं कर पाई है कि कचरा को संबंधित स्थान पर रखें जहां से नगर निगम उसको उठाकर ले निगम कि जिम्मेदारी है और लोगों को भी जागरूक होना होगा.