मध्यप्रदेश वर्ष 2022-23 में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी कर सकता है। खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी की अध्यक्षता में आज टी.टी. नगर स्टेडियम में मध्यप्रदेश ओलंम्पिक संघ एवं राज्य स्तरीय खेल संघो के पदाधिकारियों की बैठक में सर्वसम्मति से इसका अनुमोदन किया गया।

खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि प्रदेश में खेलों की सुविधाओं में तेजी से विकास और बेहतर वातावरण तैयार हुआ है। उन्होंने कहा कि भोपाल, इन्दौर, जबलपुर और उज्जैन में राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिये पर्याप्त अधोसंरचना उपलब्ध है।

चयन प्रक्रिया में लायें पारदर्शिता

मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि खिलाड़ियों के चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता के लिए तंत्र बनाया जाए जिससे योग्य खिलाड़ी को उचित अवसर प्राप्त हो सके। उन्होंने विभिन्न खेल संघो से आग्रह किया कि चयन प्रक्रिया को और अधिक पारदर्शी बनाने के लिए आवेदन पत्र ऑनलाईन ही प्राप्त किये जाएं।

औद्योगिक घराने एक खेल गोद लें

खेल मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि प्रदेश में खेलों के विकास के लिए निजी/पब्लिक सेक्टर का सहयोग आवश्यक है। यह प्रयास करें कि प्रदेश के प्रतिष्ठित औद्योगिक घराने एक-एक खेल को गोद लें और उस खेल को बढ़ावा देने के लिए अधोसरंचना विकास एवं अन्य खेल गतिविधियों को प्रोत्साहित करें। इससे प्रदेश में खेल का माहौल बनेगा और अधोसरंचना का विकास भी होगा।

कोच डेव्हलपमेन्ट प्रोग्राम

बैठक में मंत्री श्री पटवारी ने बताया कि खेलों के विकास के लिए उत्कृष्ठ खेल प्रशिक्षकों की उपलब्धता भी आवश्यक है। इसके लिए कोच डेव्हलपमेन्ट प्रोग्राम शुरू किया गया है। इसमें प्रदेश के प्रतिभावान प्रशिक्षक तथा ऐसे अंर्तराष्ट्रीय व राष्ट्रीय खिलाड़ी जो अपना खेल में केरियर समाप्त कर खेल प्रशिक्षक के रूप में अपना केरियर बनाना चाहते है। उन्हे राज्य शासन द्वारा देश ही नहीं विदेश में अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जायेगी।

खिलाड़ियों का बीमा

बैठक में संचालक खेल एवं युवा कल्याण श्री एस.एल. थाऊसेन ने जानकारी दी कि राज्य शासन द्वारा खिलाड़ियों के लिए चिकित्सा एवं दुर्घटना बीमा योजना प्रारंभ की गई है। यह सुविधा उन सभी खिलाड़ियों को दी जायेगी जो अधिकृत राष्ट्रीय प्रतियोगिता में प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। यह सुविधा सभी आयुवर्ग के खिलाड़ियों के लिए रहेगी। इस योजना के तहत प्रतिवर्ष खिलाड़ियों का मान्यता प्राप्त खेल संघो के सहयोग से पंजीयन किया जायेगा। श्री थाऊसेन ने विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारियों से आग्रह किया कि वे संबंधित खेल संघ को राष्ट्रीय स्तर के खिलाडियों की प्रमाणित सूची उपलब्ध करायें। पंजीबद्ध खिलाड़ी देश के किसी भी कोने में सूचीबद्ध अस्पतालों में अपना इंडोर पेशेन्ट के रूप में कैशलेस ईलाज करा सकेगा।

इस अवसर पर मध्यप्रदेश ओलम्पिक संघ के अध्यक्ष श्री रमेश मेन्दोला, मध्यप्रदेश ओलम्पिक संघ के सचिव श्री दिग्विजय सिंह, मध्यप्रदेश ओलम्पिक संघ के उपाध्यक्ष श्री विश्वास सारंग, डॉ. मोहन यादव, श्री ओम सोनी, श्री अनिल धुपर, श्री विरेन्द्र सिंह, श्री कुलविन्दर सिंह गिल, श्री विवेक जैन, श्री राजेश यादव, ओलम्पियन श्री पप्पू यादव तथा विभिन्न खेल संघो के पदाधिकारी उपस्थित थे।