रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की ग्राम स्वराज की स्वप्न को साकार करने का बीड़ा उठाया इसके लिए उन्होंने सुराजी गांव योजना लागु की है। इस आशय के विचार आज मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ‘लोकवाणी‘ सुनने के बाद नगर निगम पार्षद एवं एमआईसी सदस्य विमल गुप्ता ने व्यक्त किए। राजधानी रायपुर के शारदा चौक के आरडीए बिल्डिंग परिसर में आज लोकवाणी कार्यक्रम को बड़ी संख्या में आसपास के नागरिकों ने सुना।
लोकवाणी कार्यक्रम के बारे में लोगों ने बताया कि सरकार द्वारा अपने फैसलों में जनता की जनता की राय लेना और उसके अनुरूप कार्य करना एक स्वागत योग्य कदम है। मुख्यमंत्री ने आज अपनी रेडियो वार्ता में नरवा, गरवा, घुरूवा और बाडी के संबंध में यह स्पष्ट कर दिया की यह योजना गांवों की समृद्धि के लिए बनाई गई है। योजना से गांव में रोजगार के साथ ही खेती और पशुधन समृद्ध होगा। नरवा के पुनर्जीवन से किसानों को साल में दो से तीन फसल लेने की सुविधा मिलेगी।
जितेन्द्र कौशिक और मोहम्मद सैय्यद हुसैन ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि गौठानों और बाड़ियों में बनने वाले जैविक खाद से कृषि लागत में कमी आएगी और जमीन की उर्वरा शक्ति भी मजबूत होगी।
रेडियो वार्ता लोकवाणी का श्रवण करने वालों में सुषमा यादव, सुश्री शेफाली ठाकुर, श्रीमती निर्मला जंघेल, श्रीमती कल्पना बघेल, राजेश बघेल, हेमंत कामडे़ सहित बड़ी संख्या में श्रोता शामिल थे।