नई दिल्ली । देश में महाराष्ट्र और केरल सहित कई हिस्सों में मूसलाधार बारिश ने आफत मचा रखी है। इस भयावह बाढ़ पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा है कि वे बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आएं। उन्होंने यह भी कहा कि वह अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में बाढ़ की स्थिति और मदद को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। राहुल गांधी खुद जल्द ही वायनाड जाने का प्लान बना रहे हैं। राहुल ने कहा, ‘वायनाड में बाढ़ की गंभीर स्थिति को लेकर मैंने केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन से बात की है। मेरी वायनाड, कोझीकोड और मलप्पुरम के डीएम से भी बात हुई है। वायनाड के लोगों के साथ मेरी संवेदना और प्रार्थना जो बाढ़ का सामना कर रहे हैं। मैं वायनाड जाने वाला था, लेकिन मुझे अधिकारियों ने सलाह दी है कि वहां मेरी मौजूदगी से राहत अभियान बाधित हो सकता है। मैं उनकी अनुमति की प्रतीक्षा कर रहा हूं।’
बाढ़ को लेकर राहुल ने कहा, ‘मैं आशा करता हूं कि राज्य सरकार बाढ़ प्रभावित लोगों को उचित वित्तीय पैकेज देगी। केरल, कर्नाटक, असम और बिहार में बाढ़ की हालत गंभीर है। लाखों लोग फंसे हैं या विस्थापित हो चुके हैं। मैं बाढ़ प्रभावित राज्यों के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से आग्रह करता हूं कि वे जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए जो भी कर सकते हैं, वो करें। मैं प्रार्थना करता हूं कि बाढ़ का पानी जल्द कम हो।’ बता दें कि केरल के कई इलाके भारी बारिश की चपेट में हैं और मौसम विभाग ने राज्य के चार जिलों- इदुक्की, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाडके लिए रेड अलर्ट जारी किया है। ये चार जिले भारी वर्षा और तेज हवाओं की चपेट में हैं। राज्य की अधिकांश नदियों और बांधों में जलस्तर बढ़ रहा है और कन्नूर, वायनाड, इदुक्की, मलप्पुरम, कोझीकोड और कासरगोड में बाढ़ जैसे हालात हैं। यहां की प्रमुख नदियों जैसे मणिमाला, मीनाचल, मूवट्टापुझा, चलियार, वालापट्टनम, इरूवाझीनीपुझा और पंबा में जलस्तर बढ़ा हुआ है।