मंदसौर: मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां एक युवक ने अपनी जीवित लड़की का मृत्युभोज का कार्ड छपवा दिया. मामला मंदसौर के अफजलपुर थाना क्षेत्र के कुचदौड़ गांव का है. जहां एक 19 वर्षीय लड़की ने अपने बचपन के दोस्त के साथ भागकर शादी कर ली. इस पर जब पिता ने बेटी को समझाने की कोशिश की तो बेटी ने पिता को पहचानने से इनकार कर दिया और उनके साथ जाने से मना कर दिया. इस पर मामला थाने तक जा पहुंचा. थाने में जब बेटी और पिता का आमना-सामना हुआ तो बेटी ने यहां भी बेटी को पहचानने से इनकार करते हुए कहा कि वह उसे नहीं पहचानती.

थाने में लड़की ने शपथ पत्र देते हुए अपने पति के साथ ही रहने की इच्छा जाहिर की, जिसके बाद कानूनी तौर पर लड़की को उसके पति के साथ रहने की इजाजत मिल गई, लेकिन यह बात लड़की के पिता को नागवार गुजरी और उन्होंने लड़की के इस फैसले नाराज होकर उससे अपने सारे रिश्ते तोड़ दिए और अपनी जीवित बेटी के मृत्यु भोज के कार्ड छपवा डाले. मामले के सामने आने के बाद हर कोई हैरान रह गया. हालांकि समाज के अन्य लोगों की समझाइश के बाद पिता मृत्यु भोज को निरस्त कर दिया गया, लेकिन अब जीवित बेटी के मृत्युभोज के कार्ड छपवाना हर तरफ चर्चा का विषय बना हुआ है.
पुलिस के अनुसार लड़की ने 25 तारीख को अपने बचपन के दोस्त के साथ लव मैरिज की थी. इस पर पिता की शिकायत के बाद लड़की थाने में उपस्थित हुई और उसने अपनी मर्जी से विवाह किए जाने के साक्ष्य प्रस्तुत किए. क्योंकि लड़की बालिक थी इसलिए उसके निर्णय को वैध करार देते हुए, परिजनों से लड़की की मुलाकात कराई जिसमें शारदा ने अपने परिजनों के साथ नहीं रहने की इच्छा जताई. इसके बाद लड़की और उसके परिजन अपने-अपने घर लौट गए. वहीं मृत्युभोज के कार्ड पर पुलिस का कहना है कि, थाने से जाने के बाद क्या हुआ पुलिस को इसकी कोई जानकारी नहीं है.