बिलासपुर । नगरीय निकाय में पदस्थ शिक्षाकर्मी की पूर्व सेवा गणना कर पुनरीक्षित वेतनमान देने के हाईकोर्ट के आदेश का पालन नहीं करने पर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी धरसीवा को अवमानना हेतु कारण बताओ नोटिस जारी किया है। याचिकाकर्ता आरिफा परवीन पूर्व में पंचायत विभाग में कार्यरत थी उसके पश्चात परीक्षा देकर रायपुर नगर निगम के तहत सहायक शिक्षक (नगरीय निकाय) के रूप में हुई। पूर्व सेवा की गणना करने पर 8 वर्ष से अधिक सेवा होने के कारण पुनरीक्षित वेतनमान की पात्रता थी किन्तु उक्त लाभ नहीं देने पर हाईकोर्ट में याचिका प्रस्तुत की गई जिस पर माननीय न्यायालय ने पूर्व सेवा जोडक़र पुनरीक्षित वेतनमान का लाभ देने का निर्देश दिया। उक्त निर्देश नहीं मानने पर निगम आयुक्त के खिलाफ अवमानना याचिका प्रस्तुत की गई, जिसमें उन्हें नोटिस जारी किया गया, जिसके बाद उन्होंने पुनरीक्षित वेतनमान स्वीकृत कर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी को भेज दिया है और जवाब में बताया गया कि उनकी ओर से पुनरीक्षित वेतनमान का प्रकरण स्वीकृति हेतु विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी को भेजा गया है किन्तु उनके द्वारा कोई उत्तर नहीं दिया गया, जिसके कारण याचिकाकर्ता को आज तक पुनरीक्षित वेतनमान का लाभ नहीं मिल पाया है। जिसके पश्चात विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी धरसीवां को हाईकोर्ट अवमानना बाबत् कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।