जबलपुर: एक तरफ जहां कई राज्यों में अधिक वर्षा के चलते हाहाकार मचा है. वहीं, मध्य प्रदेश के कई जले सूखे की चपेट में है और ऐसे में मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में बारिश न होने से लोग बेहद परेशान है. बारिश नहीं होने से जिले में लोग तरह-तरह के टोने-टोटके आजमाने में लगे हैं ताकी इंद्र देवता प्रसन्न हों. मध्य प्रदेश का नरसिंहपुर को पूर्ण साक्षर जिला माना जाता है. इसके बावजूद यहां लोग टोना-टोटका पर विश्वास कर रहे हैं. इसी के चलते गाडरवारा तहसील क्षेत्र के सालीचौका में शनिवार को महिलाओं ने अजीब और अनोखा टोटका अपनाया, इसमें महिलाओं ने जमीन में खुद हल चलाया.

नरसिंहपुर जिले के सालीचौका में गांव की महिलाओं ने एक अजीब तरह का टोटका किया. इसमें सबसे पहले गांव के मुखिया का मुंह और हाथ बांधकर उसे मंदिर में बैठा दिया. फिर कई घंटों तक देवी के मंदिर में भगवान को मनाने के लिए भजन-कीर्तन करते हुए खेतों तक नाचते झूमते गई. यहां पहुंचकर महिलाओं ने बारिश की कामना करते हुए अपने खेतों में हल चलाया. स्थानीय निवासी त्रिवेणी बाई ने बताया कि हमने गांव के मुखिया को हाथ-पैर बांधकर आंखों पर पट्टी बांधी है. इसके बाद मंदिर में देवी के सामने बैठा दिया. इंद्रदेव से प्रार्थना कर रहे हैं कि हम पर दया करो.

पूर्ण साक्षर जिले में जिस तरह बारिश के लिए टोने-टोटके हो रहे हैं, वह जिले की पूर्ण साक्षरता वाली छवि पर प्रश्नचिन्ह जरूर खड़ा करता है. वहीं, इसे भले ही लोग से अंधविश्वास की नजर से देखते हैं लेकिन, गांववालों का मानना है कि ऐसा करने से बारिश होने की सम्भावना बनती है.