नई दिल्ली: भारतीय सेना के साथ ट्रेनिंग के लिए भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के अनुरोध को जनरल बिपिन रावत ने मंजूरी दे दी है. वह पैराशूट रेजिमेंट बटालियन के साथ ट्रेनिंग लेंगे. ट्रेनिंग का कुछ हिस्सा जम्मू और कश्मीर में भी होने की उम्मीद है. हालांकि, सेना धोनी को किसी भी सक्रिय ऑपरेशन का हिस्सा नहीं बनने देगी.
38 वर्षीय धोनी ने शनिवार को अपने संन्यास और वेस्टइंडीज के दौरे पर न जाने के कयासों पर विराम लगाते हुए टीम के लिए दो महीने तक खुद को "अनुपलब्ध" बना लिया. प्रादेशिक सेना की पैराशूट रेजिमेंट में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल एमएस धोनी ने अगले दो महीने अपनी रेजिमेंट के साथ रहने का फैसला लिया था, जिसे सेना प्रमुख की स्वीकृति मिल गई है.
धोनी ने रविवार को चयन समिति की बैठक से पहले बीसीसीआई को अपना इस फैसले के बारे में बता दिया था. हालांकि यह स्पष्ट किया कि वह इस समय क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहे हैं. इससे पहले धोनी के संन्यास की खबरें पैर जमाने लगी थीं.
एक बीसीसीआई अधिकारी के मुताबिक, “धोनी अभी क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह अपने अर्धसैनिक रेजिमेंट की सेवा के लिए दो महीने का विश्राम ले रहे हैं, जो उन्होंने बहुत पहले किया था.
धोनी के दौरे से बाहर होने पर ऋषभ पंत को तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी20) में विकेटकीपर तौर पर रखा गया है, जबकि रिद्धिमान साहा टेस्ट में विकेटकीपिंग करेंगे.